अहमदाबाद। एक सत्र न्यायालय ने सोमवार को एक महिला को अपने पति की हत्या करने के आरोप में उम्रकैद की सजा सुनाई है। महिला पर आरोप था कि उसने 2013 में अपने पति की हत्या इसलिए कर दी थी क्योंकि उसने महिला से शारीरिक संबंध बनाने से इन्कार कर दिया था।

अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश यू एम भट्ट ने 54 वर्षीय विमला वाघेला को उम्र कैद की सजा सुनाने के साथ-साथ 2000 रुपये का जुर्माना भी लगाया है। जुर्माना नहीं भरने की स्थिति में सजा को 6 महीने और आगे बढ़ाया जा सकता है।

टाइम्स ऑफ इंडिया के अनुसार, 2 नवंबर, 2013 की दोपहर में विमला और उसके पति नरसिंह अपने सरदारनगर के नोबलनगर एरिया स्थित अपने घर में अकेले थे। विमला के खिलाफ दायर की गई चार्जशीट में दावा किया गया है उसके बाद पति द्वारा शारीरिक संबंध बनाने से इन्कार करने पर वह गुस्सा हो गई और पति से लड़ने लगी।

उसे अपनी पति शक था कि उसका किसी और महिला के साथ भी संबंध है। अचानक गुस्से में उसने एक डंडा उठा लिया और पति की पिटाई शुरू कर दी और माथे पर चोट लगने के कारण उसकी मौत हो गई। पति के हत्या करने के बाद विमला घर में ताला लगाकर सरदारनगर पुलिस स्टेशन गई और अपने पति की मौत के बारे में जानकारी दी। वह इस केस की शिकायकर्ता बन गई।

बाद में पुलिस की जांच में यह खुलासा हुआ कि विमला ही इस हत्या की गुनहगार है, जिसके बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया और उसके खिलाफ चार्जशीट फाइल की गई।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags