CoronaVirus in Gujarat: कोरोना वायरस का असर किसानों पर भी पड़ रहा है। ऐसे में गुजरात सरकार ने अपने किसानों को बड़ी राहत देने वाला ऐलान किया है। गुजरात के उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल ने राज्य के किसानों को कृषि कर्ज की अदायगी में दो महीने की राहत दी है। अब किसान 31 मार्च तक जमा की जाने वाली कृषि ऋण की किश्त मई तक भर सकेंगे। इस निर्णय से राज्य के 24.21 लाख किसानों को इसका लाभ मिलेगा। इस दौरान ब्याज पूरी तरह माफ रहेगा।

नितिन पटेल ने कहा कि किसानों के तैयार फसल की बिक्री बंद है। इससे उनके पास रुपए नहीं हैं। किसान बैंकों से लिया गया ऋण अदा नहीं कर पा रहे हैं। बैंक किसानों को अदायगी के लिए नोटिस दे रहे हैं। किसानों की इस समस्या के निराकरण के लिए सरकारी एवं सहकारी बैंकों के ऋण की अदायगी 31 मार्च से बढ़ाकर मई तक कर दी गई हैं।

नितिन पटेल ने कहा कि किसान संघ, किसान नेता एवं विधायकों की ओर से मुख्यमंत्री के समक्ष की मांग को ध्यान में रखकर यह निर्णय किया गया है। गुजरात सरकार ने इस बारे में केन्द्र सरकार को अवगत किया था। केन्द्र सरकार ने गुजरात सरकार के इस निर्णय को स्वीकार कर लिया है।

फसल तैयार, लेकिन नहीं बेच पा रहे अनाज

उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के कारण व्यापार-उद्योग बंद हैं। मार्केट यार्ड का कामकाज भी ठप पड़ गया है। किसान अपना अनाज भी नहीं बेच पा रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ सरकारी और सहकारी बैकों द्वारा ऋण की अदायगी के लिए किसानों को नोटिस देना शुरू कर दिया हैं। इससे किसान की समस्याओं के निवारण के लिए सरकार ने यह निर्णय लिया गया है। किसानों को सात प्रतिशत ब्याज पर ऋण मिलता है। केन्द्र सरकार चार और राज्य सरकार तीन प्रतिशत ब्याज की अदायगी करेगी। यह सहायता दो महीने के लिए दी गई है।

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना