अहमदाबाद। चीन के साथ दुनिया के कई देशों में हाहाकार मचाने वाले कोरोना वायरस से गुजरात के छात्रों को बचाने के लिए राज्य सरकार ने कदम उठाये हैं। मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने चाइना गये गुजरात के 300 छात्रों को भारत लाने की तैयारी की है। मुख्यमंत्री ने इसके लिए विदेश मंत्री एस जयशंकर से फोन पर बात की है।

मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने विदेश मंत्री एस जंयशकर फोन कर बताया कि है कि गुजरात के कई छात्र चाइना में अभ्यास के लिए गए हुए हैं। चाइना में कोरोना वायरस का कहर है। इस वजह छात्रों के अभिभावकों को उनकी चिंता सता रही है और उन्हें भारत लाने की अपील की जा रही है। सरकार को जल्द से जल्द इन छात्रों को भारत लाने के लिए उचित कदम उठाने चाहिए।

इन शहरों के छात्र चीन में फंसे

गौरतलब है कि गुजरात के जूनागढ़, जामनगर , वड़ोदरा, गोधरा, अहमदाबाद, सूरत सहित विभिन्न शहरों के 300 से अधिक मेडिकल के छात्र चाइना में फंस गए हैं।

श्रेया हुबेई में कर रही है MBBS

वड़ोदरा निवासी शशिकुमार जैमन नामक युवक ने पीएमओ, विदेश मंत्री, गृहमंत्री, सीएमओ को टेक करते हुए ट्वीट किया है कि उनकी पुत्री श्रेया हुबेई यूनिवसिर्टी में एमबीबीएस की पढ़ाई करती है और उसके साथ करीब 300 से अधिक स्टुडन्ट है। चाइना में कोरोना वायरस के कहर के कारण उन्हें यूनिवर्सिटी के बाहर भी निकलने नहीं दिया जा रहा है। ये सभी छात्र चाइना में फंस गये ।

Posted By: Navodit Saktawat

fantasy cricket
fantasy cricket