जबलपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

रेलवे के निजीकरण को लेकर विरोध शुरू हो गया है। रेलवे यूनियनों द्वारा रेलवे की मंशा को भांपते हुए ट्रेन से लेकर स्टेशन और संचालन का निजीकरण करने का विरोध मंगलवार को पश्चिम मध्य रेलवे मजदूर संघ ने किया। डीआरएम कार्यालय के समक्ष मजदूर संघ की गेट मीटिंग का आयोजन किया गया। संघ के महामंत्री अशोक शर्मा की अगुवाई में जबलपुर ही नहीं भोपाल और कोटा मंडल में भी मजदूर संघ ने प्रदर्शन किया। इस मौके पर निजीकरण के विरोध में पुतला दहन किया गया।

कार्यकारी महामंत्री सतीश कुमार ने का हम किसी भी स्थिति में पमरे की एक भी ट्रेन का निजी संचालन नहीं होने देंगे। इस मौके पर संयुक्त महामंत्री एसके वर्मा ने कहा कि भारत सरकार 150 ट्रेनों को निजी हाथों में सौंपने जा रही है। हम इस साजिश को किसी भी स्थित में पूरा नहीं होने देंगे। इस मौके पर मंडल सचिव डीपी अग्रवाल, अध्यक्ष एसएन शुक्ला, संदीप, मनदीप, विजय दुबे आदि मौजूद रहे।

Posted By: Nai Dunia News Network