मिरे एसेट म्यूचुअल फंड ने इलेक्ट्रिक और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस थीम पर लॉन्‍च किए दो नए फंड ऑफर

मिरे एसेट ग्लोबल इलेक्ट्रिक एंड ऑटोनॉमस व्हीकल्स ईटीएफ फंड ऑफ फंड (ईवी एफओएफ) विदेशी ईटीएफ में निवेश करेगा।

Updated: | Fri, 19 Aug 2022 07:09 PM (IST)

भारत में सबसे तेजी से बढ़ रहे फंड हाउस में शामिल मिरे एसेट म्यूचुअल फंड ने अपने दो नए फंड लॉन्च करने की घोषणा की है। इनमें पहला एनएफओ में मिरे एसेट ग्लोबल इलेक्ट्रिक एंड ऑटोनॉमस व्हीकल्स ईटीएफ फंड ऑफ फंड है। (यह एक ओपेन एंडेड फंड ऑफ फंड स्कीम है। यह स्कीम उन विदेशी इक्विटी एक्सचेंज ट्रेडेड फंड्स में निवेश करती है जो इलेक्ट्रिक और आटोनॉमस यानी स्वायत्त वाहनों और उनसे संबंधित प्रौद्योगिकी, घटकों और सामग्रियों के विकास में शामिल कंपनियों पर आधारित हैं)।

जबकि दूसरा एनएफओ मिरे एसेट ग्लोबल एक्स आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस एंड टेक्नोलॉजी ईटीएफ फंड ऑफ फंड है। (यह एक ओपन-एंडेड फंड ऑफ फंड स्कीम है, जो ग्लोबल एक्स आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस एंड टेक्नोलॉजी ईटीएफ की इकाइयों में निवेश करती है) ये दोनों फंड भारत के म्यूचुअल फंड उद्योग में लॉन्च होने वाले अपने तरह के पहले फंड हैं, जो भविष्य की तकनीक में शामिल कंपनियों पर आधारित हैं।

मिरे एसेट ग्लोबल इलेक्ट्रिक एंड ऑटोनॉमस व्हीकल्स ईटीएफ फंड ऑफ फंड (ईवी एफओएफ) विदेशी ईटीएफ में निवेश करेगा, जो अलग अलग देशों में इलेक्ट्रिक और ऑटोनॉमस व्हीकल्स और संबंधित तकनीक, घटकों और सामग्रियों के विकास पर आधारित हैं। जबकि मिरे एसेट ग्लोबल एक्स आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस एंड टेक्नोलॉजी ईटीएफ फंड ऑफ फंड (एआई एफओएफ) ग्लोबल एक्स आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस एंड टेक्नोलॉजी ईटीएफ की इकाइयों में निवेश करेगा। ग्लोबल एक्स एक प्रमुख ETF प्रदाता है, जिसका मुख्यालय न्यूयॉर्क में है। यह वर्तमान में थीमैटिक यानी विषयगत ETF में 40 बिलियन यूएस डॉलर से अधिक एसेट अंडर मैनेजमेंट यानी एयूएम (AUM) का प्रबंधन करता है। ग्लोबल एक्स ईटीएफ मिरे एसेट फाइनेंशियल ग्रुप का सदस्य है। (स्रोत: GlobalX, 30 जून, 2022 तक)

16 अगस्त से 30 अगस्त तक खुले रहेंगे

दोनों एनएफओ सब्सक्रिप्शन यानी निवेश के लिए 16 अगस्त, 2022 को खुलेंगे और 30 अगस्त, 2022 को बंद होंगे। दोनों फंड का प्रबंधन मिरे एसेट इन्वेस्टमेंट मैनेजर्स (इंडिया) प्राइवेट लिमिटेड के हेड-ईटीएफ प्रोडक्ट्स, श्री सिद्धार्थ श्रीवास्तव द्वारा किया जाएगा।

कम से कम कितना निवेश

इन फंड में कम से कम 5,000 रुपये का प्रारंभिक निवेश करना जरूरी होगा और उसके बाद 1 रुपये का गुणक में निवेश किया जा सकता है।

फंड की प्रमुख खासियत

· विभिन्न देशों और इकोसिस्टम में इलेक्ट्रिक और ऑटोनॉमस वाहनों और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस एंड टेक्नोलॉजी वाली कंपनियों में निवेश के साथ इन फंड में डाइवर्सिफाइड पोर्टफोलियो का लाभ मिलेगा।

· Indxx आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और बिग डाटा सूचकांक (AIQ इंडेक्स) (AI FoF के लिए बेंचमार्क सूचकांक ) पोर्टफोलियो में 83 कंपनियां हैं, जो 20 उद्योगों में फैली हुई हैं। उनका कुल बाजार पूंजीकरण 13.2 ट्रिलियन अमेरिकी डॉलर (13.2 लाख करोड़ अमेरिकी डॉलर) है।

· एआईक्यू सूचकांक ने पिछले 7 सालों में (31 जुलाई 2022 तक) 20.4 फीसदी रिटर्न दिया है। **

· इन फंड के जरिए निवेशकों के लिए वैश्विक बाजारों में निवेश करने का एक अनूठा अवसर माना जा सकता है।

.

*स्रोत: 29 जुलाई, 2022 तक ब्लूमबर्ग डाटा; एफबीआईएल की विनिमय दर का उपयोग इंडेक्स वैल्यू को यूएस डॉलर से भारतीय रुपये में बदलने के लिए किया गया है। अगर भारतीय रुपये में उस मुद्रा के मुकाबले मजबूत होता है, जिसमें निवेश किया जाता है तो विदेशी संपत्ति के मूल्य में गिरावट आती है। जिसके परिणामस्वरूप ऐसी विदेशी संपत्ति में निवेश करने वाले फंड पर भी इसका प्रभाव पड़ेगा। पिछला प्रदर्शन भविष्य में बना रह भी सकता है और नहीं भी। इंडेक्स रिटर्न टोटल रिटर्न वेरिएंट में है। ऊपर दिखाया गया डाटा सूचकांक से संबंधित है और सूचकांक की किसी भी योजना के प्रदर्शन को नहीं दिखाता है।

** AIQ सूचकांक का मतलब Indxx आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और बिग डाटा सूचकांक है। स्थापना के बाद से एआईक्यू सूचकांक का रिटर्न: 18.5% (आधार तिथि: 31 जनवरी 2014); 1 साल का रिटर्न: -20.7% है।

वैश्विक थीम में निवेश का मौका

एनएफओ की घोषणा करते हुए मिरे एसेट इन्वेस्टमेंट मैनेजर्स (इंडिया) प्राइवेट लिमिटेड के सीईओ श्री स्वरूप मोहंती ने कहा कि मिरे एसेट भारतीय निवेशकों के लिए वैश्विक निवेश उत्पादों को पेश करने में सबसे आगे रहा है। उन्होंने कहा कि हम भारत में ये थीम विकास के प्रारंभिक चरण में हैं, लेकिन विश्व स्तर पर ये फोकस में हैं। हमारा मानना है कि इन फंडों के जरिए निवेशकों को वैश्विक थीम में निवेश का मौका मिलेगा।

“उन्होंने कहा कि हम भारतीय निवेशकों को इस तरह के अनूठे वैश्विक पेशकश में निवेश का मौका देना चाहते हैं. हम ऐसी स्कीम सही समय पर लाना चाहते हैं, ताकि बड़े पैमाने पर निवेशकों के सही निवेश चक्र में पैसा लगाने का मौका मिले और साथ ही उनके निवेश को व्यापक और प्रासंगिक बनाया जा सके।"

निवेश के लिए बेहतर समय

मिरे एसेट इन्वेस्टमेंट मैनेजर्स (इंडिया) प्राइवेट लिमिटेड के हेड-ईटीएफ प्रोडक्ट्स श्री सिद्धार्थ श्रीवास्तव ने कहा कि नए फंड ऑफर ऐसे समय में आए हैं, जब वैल्यूएशन निवेशकों के लिए आकर्षक लग रहा है। वहीं अधिकांश देशों का इन तकनीक का उपयोग करने की दिशा में पर्याप्त झुकाव दिख रहा है।

मिरे एसेट ग्लोबल इलेक्ट्रिक एंड ऑटोनॉमस व्हीकल्स ईटीएफ फंड ऑफ फंड और मिरे एसेट ग्लोबल एक्स आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस एंड टेक्नोलॉजी ईटीएफ फंड ऑफ फंड निवेशकों के लिए रेगुलर प्लान और डायरेक्ट प्लान दोनों में उपलब्ध होगा। एनएफओ के बाद, न्यूनतम अतिरिक्त खरीद राशि 1000 रुपये और उसके बाद 1 रुपये के गुणक में निवेश किया जा सकता है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.