Attack on Tehsildar in Balrampur: सरगुजा के बलरामपुर में रेत तस्करों के हौसले बुलंद, प्रशासनिक टीम पर हमला, जान बचाकर भागे तहसीलदार

Updated: | Sun, 17 Oct 2021 01:55 PM (IST)

अंबिकापुर। Attack on Tehsildar in Balrampur: रेत के अवैध उत्खनन और परिवहन के लिए बदनाम बलरामपुर जिले के रामचंद्रपुर इलाके में बुलंद हौसले के साथ रेत तस्करों ने शनिवार की रात प्रभारी तहसीलदार विनीत सिंह और उनकी टीम पर जानलेवा हमला कर दिया। रात के अंधेरे में 25 से 30 लोगों द्वारा एकाएक हमले से घबराए प्रभारी तहसीलदार और दूसरे कर्मचारी किसी तरीके से जान बचाकर भाग निकलने में सफल रहे। रेत तस्करों द्वारा तहसीलदार की गाड़ी में तोड़फोड़ की गई है। इस घटना के बाद बलरामपुर जिला प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है।

रामचंद्रपुर थाना क्षेत्र के त्रिशूली में लंबे समय से रेत का अवैध उत्खनन और परिवहन किया जा रहा है।नए कलेक्टर कुंदन सिंह के पदभार ग्रहण करने के बाद प्रशासनिक अधिकारियों को इस अवैध कार्य पर अंकुश लगाने की हिदायत दी गई है। बताया जा रहा है कि शनिवार की रात प्रभारी तहसीलदार विनीत सिंह को सूचना मिली थी कि ग्राम त्रिशूली में अवैध तरीके से पोकलेन लगाकर रेत का अवैध उत्खनन किया जा रहा है। परिवहन के लिए ट्रकें में भी खड़ी हैं।रात में ही प्रभारी तहसीलदार विनीत सिंह कर्मचारियों को साथ लेकर त्रिशूली के लिए रवाना हुए थे।

उन्होंने सनावल थाने में इसकी सूचना भी दी थी। पुलिस की ओर से कोई भी अधिकारी- कर्मचारी मौके पर नहीं पहुंचे थे। इधर प्रभारी तहसीलदार विनीत सिंह जब त्रिशूली पहुंचे तो वहां नदी पर पोकलेन मशीन संचालित होता देख उसे जब्ती की कार्रवाई करने की तैयारी में थे। उसी दौरान 25 से 30 लोग मौके पर पहुंच गए और प्रशासनिक टीम पर हमला कर दिया। आरोपियों द्वारा प्रभारी तहसीलदार के वाहन में तोड़फोड़ शुरू कर दी गई। चालक की सूझबूझ से प्रभारी तहसीलदार और दूसरे कर्मचारी किसी तरीके से रात में ही जान बचाकर भाग निकलने में सफल रहे।

प्रभारी तहसीलदार का वाहन पूरी तरीके से क्षतिग्रस्त हो चुका है। अब इस मामले की लिखित शिकायत पुलिस से करने की तैयारी की जा रही है। बताते चलें कि झारखंड और उत्तर प्रदेश की सीमा से लगे बलरामपुर जिले के सीमावर्ती नदी, नालों से रेत का अवैध उत्खनन और परिवहन लंबे समय से चल रहा है।खनिज विभाग की नाकामी तथा पुलिस के संरक्षण में रेत तस्करी का यह धंधा अवैध कमाई का बड़ा जरिया बना हुआ है। बलरामपुर जिले का रेत उत्तर प्रदेश में पाया जा रहा है। पुलिस द्वारा किसी प्रकार की कार्रवाई नहीं किए जाने से रेत तस्करों के भी हौसले बुलंद हैं।

पिछले कुछ दिनों से प्रशासनिक टीम लगातार कार्रवाई करने में जुटी हुई थी। बताया जा रहा है कि एक दिन पहले प्रभारी तहसीलदार विनीत सिंह के नेतृत्व में अमले ने रेत के अवैध परिवहन में संलिप्त 11 ट्रकों को पकड़ कर थाने में खड़ा करा दिया था। उनकी सक्रियता से रेत तस्कर घबराए हुए थे और शनिवार की रात मौका मिलते ही उन पर जानलेवा हमला कर दिया। इस घटना के बाद बलरामपुर पुलिस भी निशाने पर आ चुकी है। रेत तस्करों के हौसले इतने बुलंद हो चुके हैं कि अब प्रशासनिक टीम पर हमला करने से बाज नहीं आ रहे हैं।

Posted By: Yogeshwar Sharma