HamburgerMenuButton

Bhilai Steel Plant: वेतन समझौते की बढ़ी आस, आप भी जानिए इन मुद्दों और सुझावों को

Updated: | Thu, 22 Oct 2020 08:08 AM (IST)

भिलाई Bhilai Steel Plant भारतीय इस्पात प्राधिकरण-सेल ने तय कर दिया गया है कि वेतन समझौता होगा। साल के अंत तक भला होने की उम्मीद लगाई जा रही है। लंबित वेतन समझौता 2017 से लागू होगा, लेकिन आर्थिक लाभ क्रियान्वयन अवधि से ही मिलेगा। इस संकेत के बाद कर्मचारियों ने अपनी-अपनी मांगों की सूची तैयार कर ली है। सोशल मीडिया पर गुहार लगा रहे हैं। सेल के एक कर्मी ने चेयरमैन अनिल कुमार चौधरी से फेसबुक पर गुहार लगाई। चेयरमैन का जवाब आया, इंतजार कीजिए, सबकुछ होगा। लगातार मिल रहे सकारात्मक संकेत के बाद कर्मियों ने संयंत्र से लेकर टाउनशिप तक की समस्याओं से छुटकारा पाने की सूची तैयार की है। सोशल मीडिया पर इसको वायरल भी किया जा रहा है। मांगों की फेहरिस्त में विश्वकर्मा पुरस्कार विजेता कर्मचारी को सीधे अधिकारी बनाने की मांग की गई है।

संयंत्र का नाम रोशन करने और आर्थिक लाभ दिलाने पर ही विश्वकर्मा पुरस्कार से नवाजा जाता है। तकनीकी रूप से मदद करने वाले ऐसे कर्मचारियों को अधिकारी बनाने का सुझाव सेल प्रबंधन को भेजा गया है। साथ ही एक साथ तीन इंक्रीमेंट लगाने की वकालत भी की जा रही है। इसके पीछे यह तर्क दिया जा रहा है कि हर कार्मिक कंपनी के प्रति समर्पित और पहले से बेहतर काम कर सकेगा। इसके अलावा कार्मिकों का मनोबल बढ़ाने के लिए मई दिवस, सेल स्थापना दिवस और प्रमुख त्योहारों के दिन दोहरा वेतन देने की मांग की गई है।

आप भी जानिए इन मुद्दों और सुझावों को

- सेल कार्मिकों को मिनिमम गारंटेड बेनिफिट-एमजीबी 15 प्रतिशत दिया जाए। पर्क्स 35 फीसद तय हो।

- दूसरे महारत्न पब्लिक सेक्टर और सरकारी संगठनों के अनुसार पदनाम तय किया जाए। मनोबल बढ़ाने वाला पदनाम हो।

- प्रत्येक कलस्टर का कार्य स्पष्ट हो, कर्मचारियों के कार्य भी कलस्टर के हिसाब से लिया जाए। अगर किसी जूनियर कर्मचारी से सीनियर कर्मचारी का कार्य लिया जाए तो उसे उस दिन के वेतन का 50 फीसद अतिरिक्त पारिश्रमिक दिया जाए।

- रात्रि भत्ता 300 रुपये प्रति पाली दिया जाए। प्रत्येक साल में महंगाई भत्ता के हिसाब से उसे भी बढ़ाएं।

- सीएल-15, ईएल-30, एफएल-आरएच-7 दिया जाए। ड्रेस एलाउंस भी दिया जाए।

- कार के लिए वाहन लोन 90 फीसद, दो पहिया वाहन के लिए 100 प्रतिशत दिया जाए। कार लोन की रिकवरी 15 साल और दो पहिया की दस साल में की जाए।

- आवास लोन स्टील सिटी में 1400 स्क्वायर फीट के घर के रकम के बराबर दिया जाए, ब्याज दर आधी हो।

- फेस्टिवल एडवांस प्रत्येक पांच साल में 10 हजार रुपये बढ़ाने का प्रावधान हो।

- कर्मी की मौत जैसे भी हो, आश्रित को अनुकंपा नियुक्ति दें, लैपटाप एडवांस, मोबाइल एडवांस दिया जाए।

- 900 स्क्वायर फीट क्षेत्रफल का आवास दिया जाए या दो ई टाइप आवास दिए जाएं।

- नए आवास के मरम्मत कार्य का खर्च कर्मचारियों के खाते में भेजा जाए।

- मृतक आश्रित को अनुकंपा दी जाए। किसी तरह से मृत्यु होने पर परिवार के आश्रित को नौकरी दी जाए।

- पेंशन अंशदान में सुधार किया जाए। कर्मचारियों की संख्या कम हो रही है। कर्मचारियों को अधिकारियों से तीन प्रतिशत अधिक अंशदान दिया जाए, क्योंकि कर्मचारियों का डीए बेसिक अधिकारियों से काफी कम है।

- अस्पताल में कर्मचारियों को वरियता दी जाए, अलग से कमरा आवंटित किया जाए।

- साल में दो सेफ्टी जूता मानक के अनुरूप उपलब्ध कराया जाए।

- सेल स्तर पर समूह बीमा की व्यवस्था की जाए।

- कैंटीन की व्यवस्था बेहतर करने के लिए कर्मचारियों और अधिकारियों की कमेटी बनाई जाए।

- नगर सेवा, पर्सनल, अस्पताल के लिए एक कर्मचारी कमेटी का प्रावधान किया जाए। कमेटी में निर्वाचित प्रतिनिधियों को शामिल किया जाए।

सेल बोर्ड की बैठक 30 को

भारतीय इस्पात प्राधिकरण-सेल के निदेशक मंडल की 476वीं बैठक 30 अक्टूबर को आयोजित की गई है। इस बैठक की कार्यसूची में शामिल करने के लिए प्रस्ताव मांगे गए हैं। इकाई स्तर पर प्रस्ताव जमा करने की तारीख भी तय कर दी गई है। 22 अक्टूबर तक प्रस्ताव जमा करने की आखिरी तारीख बताई जा रही है। इसके बाद किसी का प्रस्ताव स्वीकार नहीं किया जाएगा। इसको अगली बैठक के लिए तय कर दिया जाएगा। कंपनी की ओर से जारी सूचना में कहा गया है कि कार्यसूची दस्तावेज आवश्यक कार्रवाई के बाद निदेशकों के पास भेजा जाएगा।

Posted By: Sandeep Chourey
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.