आंगनबाड़ी सहायिका 10 दिसंबर से करेंगी धरना आंदोलन

Updated: | Mon, 06 Dec 2021 10:39 AM (IST)

बिलासपुर। छत्तीसगढ़ आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सहायिका संघ राज्य सरकार के खिलाफ 10 से 16 दिसंबर तक धरना प्रदर्शन करेंगी। जिसे लेकर पूरी रणनीति बन चुकी है। आठ सूत्रीय मांगों को लेकर राजधानी में सरकार को जबरदस्त तरीके से घेरने की तैयारी है।

आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सहायिका संघ बिलासपुर की परियोजना अध्यक्ष मंजू मेश्राम की मानें तो इस आंदोलन में प्रदेशभर से एक लाख आंगनबाड़ी सहायिकाएं शामिल होकर अपना समर्थन देंगी। इमली पारा कुशवाहा भवन में विभिन्न सेक्टर की बैठक में सभी को जिम्मेदारी सौंंप दी गई है। बताया कि हम अपनी मांगों को लेकर तथा राज्य सरकार को वायदा पूरा करने कराने की मांग को लेकर बूढ़ा तालाब रायपुर में धरना आंदोलन करेंगे।

10 दिसंबर से 16 दिसंबर तक पूरे प्रदेश भर के आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सहायिका बहने धरना प्रदर्शन करेगी।बैठक में प्रमुख रूप से परियोजना सचिव नीता हुमने, कोषाअध्यक्ष अंजनी वैष्णव, उपाध्यक्ष सुनीता साहू, अन्नपूर्णा श्रीवास,विमला मिश्रा रजनी, राठौर चिंतामणि,नीलू हुमने,अंजना बोरकर, शांति मिश्रा,संध्या कश्यप,मंजू दुबे, सुनीता सागर,नीतू महंत, यामिनी गरेवाल,सुचरिता नंदा,गौरी, वंदना वर्मा, प्रिंसली गरेवाल, रजनी मेश्राम, निहारिका मेश्राम सहित अनेक कार्यकर्ता पदाधिकारी संगठन पदाधिकारी उपस्थित थे।सरकार से इस संबंध में लगातार बात करने की कोशिश की गई लेकिन अभी तक उनकी ओर से कोई भी सकारात्मक कदम नहीं उठाया गया।

आठ सूत्री मांगों में प्रमुख

संघ की ओर से कार्यकर्ता को शत प्रतिशत सुपरवाइजर बनाने, प्री नर्सरी का दर्जा एवं कलेक्टर दर पर मानदेय में वृद्धि को लेकर लंबे समय से मांग कर रहे हैं। संघ ने यह भी आरोप लगाया कि राज्य सरकार चुनावी घोषणा पत्र में शामिल करने के बाद भी वादाखिलाफी कर रही है। यही वजह है कि आंदोलन का निर्णय लेना पड़ा।

Posted By: sandeep.yadav