बिलासपुर में ट्रेन के कोच से बैटरी चोरी, तीन आरोपित समेत खरीदार व आटो चालक भी गिरफ्तार

Updated: | Tue, 30 Nov 2021 02:24 PM (IST)

बिलासपुर। रेल संपत्ति चोरी की घटनाएं बढ़ने लगी हैं। रविवार को एसी कोच से चार बैटरी गायब थी। घटना के बाद आरपीएफ ने जांच की जवाबदारी संभाली। गुप्त निगरानी व मुखबिर की मदद से तीन आरोपित, दो खरीदार और एक आटो चालक को गिरफ्तार किया गया। आटो भी जब्त कर ली गई है। आरोपितों के खिलाफ रेलवे अधिनियम के तहत अपराध पंजीबद्ध किया गया है।

घटना तब उजागर हुई जब अम्लाई यार्ड के लाइन नंबर सात पर स्टेलब कोचिंग रैक की संयुक्त जांच की जा रही थी। इस दौरान टीम ने देखा की एसी कोच नंबर एसइसी 01026 के बैटरी बाक्स से चार बैटरी गायब है। किसी ने मौका पाकर पार कर दिया है। सुरक्षा में हुई इस चूक से रेलवे में हड़कंप भी मच गया है। इधर आरपीएफ ने जांच शुरू की। छानबीन के दौरान सनी मराठा नाम का एक व्यक्ति नजर आया।

संदेह के आधार पर उससे पूछताछ की। जिसमें यह बात सामने आई कि उसी ने दो अन्य साथी राहुल सोनी और राजकुमार सिंधी के साथ मिलकर घटना को अंजाम दिया। बाद में बैटरियां बेच दी गईं। आरोपित की निशानदेही पर आरपीएफ ने चोरी की बैटरी खरीदने वाले अम्लाई निवासी मंसूर अहमद के घर दबिश दी। उसके घर से एक बैटरी कवर तथा कुछ और हिस्सा बरामद किया। मंसूर को गिरफ्तार किया गया।

बयान के आधार पर शहडोल जाकर एक अन्य खरीदार सत्तार के घर छापामार कार्रवाई की गई। इस दौरान तीन बैटरी बरामद हुई। जिसे आटो क्रमांक एमपी 18 आर 1636 में अमलाई से शहडोल ले जाया गया था। चालक राजकुमार मिश्रा को आटो समेत गिरफ्तार कर लिया। बाद में सनी मराठा के दो अन्य साथी राहुल एवं राजकुमार सिंधी को भी मामले में संलिप्तता पर गिरफ्तार किया गया है। आरोपितों के खिलाफ आरपीयूपी एक्ट के तहत मामला पंजीबद्ध किया गया।

Posted By: sandeep.yadav