HamburgerMenuButton

Bilaspur MLA Shailesh Pandey News: अमानवीय व्यवहार और अधिक बिलिंग बर्दाश्त नहीं: बिलासपुर विधायक शैलेष पांडेय

Updated: | Sat, 15 May 2021 10:00 AM (IST)

बिलासपुर। Bilaspur MLA Shailesh Pandey News: अपोलो में कोरोना संक्रमित महिला की मौत के बाद स्वजन द्वारा लगाए गए आरोप के बाद शुक्रवार को विधायक शैलेष पांडेय अपोलो अस्पताल पहुंचे। उनके साथ सीएमएचओ व उनकी टीम भी साथ रही। इस दौरान विधायक ने कहा कि संक्रमण में किसी अस्पताल में अमानवीय व्यवहार और अधिक बिलिंग करने का आरोप लगना बेहद भी गंभीर मामला है। इसकी जांच की जाएगी। मरीजों के साथ इस तरह के मामले बर्दाश्त नहीं किए जाएंगे।

तारबाहर क्षेत्र में रहने वाली 34 वर्षीय तस्लीम बेगम की 12 मई को अपोलो अस्पताल में मौत हो गई थी। इसके बाद उनके पति ने अपोलो अस्पताल के खिलाफ उपचार में लापरवाही करने व अधिक बिलिंग करने का आरोप लगाया। वहीं इस मामले को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के साथ ही स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने गंभीरता से लिया है। उनके निर्देश पर ही शुक्रवार को विधायक शैलेष पांडेय मामले को लेकर अपोलो अस्पताल पहुंचे।

इस दौरान उन्होंने अपोलो प्रबंधन से कहा कि अपोलो बिलासपुर का ही नहीं पूरे छत्तीसगढ़ का एक बड़ा अस्पताल है और यहां पर पूरे प्रदेश से पैसे वालों के साथ ही आर्थिक रूप से कमजोर भी इलाज कराने आते हैं। शासन का दिशा निर्देश यह है कि हर व्यक्ति का हर संभव उपचार किया जाए, क्योंकि प्रत्येक व्यक्ति का जीवन महत्वपूर्ण है। उसकी जान बचाने का हर संभव प्रयास करना चाहिए।

इसके बाद विधायक ने मृतका तस्लीम बेगम के उपचार व बिलिंग की भी पूरी जानकारी ली। अस्पताल प्रबंधन के यूनिट हेड मनोज नागपाल ने मामले में बताया कि मृतका तस्लीम का इलाज लगभग 20 दिनों तक चला। मरीज को कोरोना संक्रमण भी था। उपचार करने के बाद भी उसकी मृत्यु हुई। यहां किसी भी मरीज से कोई अतिरिक्त पैसा नहीं लिया जाता है। मृतका के स्वजनों ने केवल ढाई लाख जमा किए थे। शेष राशि अभी तक नहीं ली गई है, लेकिन शव स्वास्थ्य विभाग के निर्देश पर दे दिया गया है। इसके बाद विधायक ने कहा कि शिकायत हुई है तो मामले की जांच होगी।

उपचार के साथ मानवता का भी दें परिचय

इस दौरान विधायक शैलेष पांडेय ने कहा कि कोरोना महामारी चल रही है, इसलिए सभी का सही उपचार होना चाहिए। उपचार में कोताही बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने यह भी कहा कि इस विषम परिस्थिति में अस्पताल प्रबंधन को मानवता का भी परिचय देना चाहिए। भर्ती हर मरीज की जानकारी रोजाना स्वजनों को दी जाए।

निजी अस्पताल, स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन समन्वय से करे कार्य

नगर विधायक शैलेष पांडेय ने बताया कि कोरोना महामारी में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देश पर एक होकर सभी निजी अस्पतालों, सरकारी अस्पतालों, स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन एक होकर कार्य कर रहे हैं। ऐसे में कई अस्पतालों की शिकायत भी आती रहती है जिस पर संवेदनशीलता से स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन उन अस्पतालों के खिलाफ कार्रवाई भी कर रहा है। लेकिन, इस महामारी में सभी को एकजुट होकर कार्य करना है। ऐसा कोई भी कार्य कोई भी न करें जिससे आपसी समन्वय बिगड़े और हर मरीज को हर संभव इलाज मिल सके।

Posted By: sandeep.yadav
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.