Bilaspur Railway News: राउरकेला में रेल रोको आंदोलन का असर, तीन घंटे देरी से पहुंची साउथ बिहार एक्सप्रेस

Updated: | Thu, 16 Sep 2021 04:00 PM (IST)

बिलासपुर। Bilaspur Railway News: राउरकेला स्टेशन पहले गार्पोस रेलवे स्टेशन में रेल रोको आंदोलन तो एक दिन में ही समाप्त हो गया, पर इसके कारण जिन ट्रेनों का परिचालन प्रभावित रहा। उसका असर दूसरे दिन गुरुवार को भी दिखा। समय पर रैल उपलब्ध नहीं होने की वजह से दुर्ग- राजेंद्रनगर साउथ बिहार स्पेशल ट्रेन दुर्ग से निर्धारित समय पर नहीं छूट सकी। बिलासपुर स्टेशन में भी यह ट्रेन करीब तीन घंटे विलंब से पहुंची। वही मुंबई व अहमदाबाद से आने वाली ट्रेनें शुक्रवार को विलंब से पहुंचेंगी।

गार्पोस स्टेशन में आंदोलन ट्रेनों के ठहराव व अन्य यात्री सुविधाओं को लेकर किया गया था। इसके चलते अप व डाउन दोनों दिशा की ट्रेनें प्रभावित रहीं। सभी को अलग- अलग स्टेशनों में नियंत्रित कर रखा गया था। हालांकि शाम पांच आंदोलन समाप्त हो गया। जिसके बाद धीरे- धीरे ट्रेनें गंतव्य के लिए रवाना हुई। पर बीच रास्ते में फंसने की वजह से ट्रेनों का परिचालन समय पूरी तरह गड़बड़ा गया।

हावड़ा के तरफ की ट्रेनें 10 से 11 घंटे देरी से बिलासपुर पहुंचीं। सुबह 11.40 बजे पहुंचने वाली हावड़ा-अहमदाबाद एक्सप्रेस रात 10:40 बजे, हावड़ा-मुंबई दूरंतो दोपहर 2:55 बजे की जगह रात 11 बजे, शाम 5:30 बजे की आने वाली राजेंद्रनगर-दुर्ग स्पेशल ट्रेन भी रात 10:30 बजे बाद बिलासपुर पहुंची। गंतव्य पर विलंब से पहुंचने के कारण यह ट्रेनें देरी से रवाना हो रही है। एक ट्रेन दुर्ग- राजेंद्रनगर साउथ बिहार एक्सप्रेस तो गुरुवार को ही प्रभावित हुई।

सुबह 9:35 बजे बिलासपुर आने वाली यह ट्रेन दोपहर 12:20 बजे पहुंची। इसके चलते यात्री परेशान हुए। उन्हें तीन घंटे इंतजार करना पड़ा। पर मुंबई व अहमदाबाद से आने वाली ट्रेनों पर शुक्रवार को इसका असर पड़ेगा। गुरुवार को इन स्टेशनों में देरी से पहुंची होंगी। वैसे भी अंतिम स्टेशन में पहुंचने के बाद रैक धुलाई से लेकर अन्य मरम्मत कार्य करने में कम से कम पांच से छह घंटे का समय लगता है। कोचिंग डिपो से फिट होकर ट्रेनें बाहर निकलतीं है।

Posted By: sandeep.yadav