Bilaspur News: सीएमओ के रवैये से पार्षदों में बढ़ नाराजगी, राजस्व मंत्री से की शिकायत

Updated: | Sat, 25 Sep 2021 12:10 PM (IST)

बिलासपुर। Bilaspur News: बिल्हा नगर पंचायत के सीएमओ के रवैये से पार्षदों में असंतोष है। पार्षदों ने सीएमओ पर मनमानी और भ्रष्ट्राचार को बढ़ावा देने का आरोप लगाया है। साथ ही पार्षदों ने राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल के पास इसकी श्ािकायत करते हुए जांच कराने की मांग की है। नगर पंचायत बिल्हा में पदस्थ मुख्य नगर पालिका अधिकारी मनोज बंजारा पर पार्षदों ने आरोप लगाते हुए राजस्व मंत्री से शिकायत की है। पार्षदों का आरोप है कि सीएमओ को नगर पंचायत में पदस्थ हुए एक साल हो गए हैं।

लेकिन नगर पंचायत में अभी तक कोई विकास नजर नहीं आ रहा है। इनके कार्यकाल को मनमानी एवं भ्रष्टाचार के रूप में देखा जा रहा है। नगर पंचायत बिल्हा में चारों तरफ गंदगी का आलम बना हुआ है। सफाई व बिजली व्यवस्था कहीं पर दिखाई नहीं दे रहा है। पार्षदों का आरोप है कि नगर पंचायत बिल्हा में लाखों रुपये के विभिन्न् सामग्रियों की खरीदी की गई है। लेकिन इन सामग्रियों का कुछ पता ही नहीं है। सामग्रियों का क्रय विक्रय नगर पंचायत परिषद एवं पीआइसी से अनुमोदन न लेकर सीधे सीएमओ द्वारा लाखों रुपये का चेक काट कर भुगतान किया गया है। जो नियम के विपरीत है।

आरोप है कि खरीदी व भुगतान में गड़बड़ियां की गई है। इस तरह खरीदी कर शासन की राशि का खुलेआम दुरुपयोग किया गया है। खरीदी एवं बिक्री कागजों तक सीमित है। पार्षदों ने शिकायत में बताया है कि मुख्य नगर पालिका अधिकारी मनोज बंजारा अपने कार्यालय में कभी भी समय पर उपस्थित नहीं रहते। जिसके कारण उनके अधीनस्थ कर्मचारी भी समय पर कार्यालय नहीं आते हैं। जिससे आमजनों को अपने छोटे-मोटे काम के लिए भटकना पड़ता है।

नगर पंचायत बिल्हा के सीएमओ मनोज बंजारा द्वारा आवास अनापत्ति, बिजली सामान खरीदी कर अपने निजी ठेकेदार को ठेका देकर कार्य करवाया जाता है। पार्षद एवं सभापतियों की सुनवाई नहीं हो रही है। जिससे पार्षद अपने आप को अपमानित महसूस कर रहे हैं। नगर पंचायत बिल्हा के पार्षद शत्रुहन निषाद द्वारा 28 नवंबर 2020 को सूचना के अधिकार के तहत सूचना मांगी गई थी। नौ महीना होने के बाद भी उसका जवाब नहीं दिया गया है।

Posted By: sandeep.yadav