HamburgerMenuButton

Corona News In Bilaspur: कोरोना से जान गंवाने वालों के बच्चों को सरकारी अंग्रेजी स्कूल में मिलेगी प्राथमिकता

Updated: | Sun, 16 May 2021 04:42 PM (IST)

बिलासपुर।Corona News In Bilaspur: स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूल में प्रवेश के लिए शनिवार से आनलाइन आवेदन जमा किया जा रहा है । कोविड-19 संक्रमण काल में इसके लिए शासन ने आफलाइन प्रक्रिया पर प्रतिबंध लगा दिया है। अभिभावक समस्त जानकारी भरकर आनलाइन जमा कर सकेंगे। शाला शुल्क में सरकार 500 रुपये की स्कालरशिप भी प्रदान करेगी। वहीं कोरोना से मृत लोगों के बच्चों को इसमें प्राथमिकता दी जाएगी।

विधायक शैलेश पांडेय ने बताया कि इस वर्ष 15 मई से स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूल में आनलाइन प्रवेश शुरू किया गया है। इन स्कूलों में प्रति वर्ष आफलाइन प्रवेश लिया जा रहा था। इस वर्ष कोरोना संक्रमण के चलते आफलाइन प्रक्रिया पर प्रतिबंध लगाया गया है। अब विद्यार्थी प्रवेश के लिए घर बैठे ही आनलाइन आवेदन कर सकते हैं।

उन्होंने बताया कि पोर्टल में किस कक्षा में कितनी सीटें खाली हैं। इसका विवरण सहित अन्य समस्त जानकारियां उपलब्ध हैं। उन्होंने बताया कि इस वैश्विक महामारी में हर परिवार में विपदा आई है। कोई आर्थिक संघर्ष कर रहा है तो किसी के घर में मृत्यु हो गई है और भरण-पोषण के साथ पढ़ाई-लिखाई के लिए घर में जिम्मेदारी निभाने वाला कोई नहीं है। ऐसे समय में छत्तीसगढ़ सरकार ने यह फैसला लिया है कि जिन बच्चों के अभिभावकों की मौत कोविड-19 से हुई है उनके बच्चों को स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूल में प्रवेश में प्राथमिकता दी जाएगी।

विधायक ने की थी पहल

नगर विधायक शैलेष पांडेय ने सरकारी स्कूलों में अंग्रेजी स्कूल की तर्ज पर पढ़ाई कराने की पहल की थी। उनके पास ऐसे लोग आए थे, जो अपने बच्चों को आर्थिक दिक्कत के कारण अंग्रेजी माध्यम स्कूलों में नहीं पढ़ा पाते थे। वर्ष 2018 में ऐसे 1000 बच्चों के शुल्क में रियायत करने के लिए विधायक ने जिला शिक्षा अधिकारी को कहा था।

इसके बाद उनकी पहल पर वर्ष 2019 में पायलट प्रोजेक्ट के रूप में पहली बार बिलासपुर की स्कूलों में शुरू किया गया। इसमें लाला लाजपत राय स्कूल, मंगला स्कूल और तारबाहर स्कूल को शामिल किया गया था।

Posted By: anil.kurrey
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.