HamburgerMenuButton

Covid 19 in Bilaspur: बिलासपुर में स्थिति नियंत्रण में पर भीड़ से बढ़ी चिंता, मिले इतने नए मरीज

Updated: | Tue, 22 Jun 2021 06:40 AM (IST)

बिलासपुर। Covid 19 in Bilaspur: जिले में कोरोना संक्रमण तो नियंत्रण में चल रहा है। लेकिन, अधिकारियों को एक यह चिंता सता रही है कि धीरे-धीरे शहर के मुख्य बाजारों में भीड़ बढ़ते ही जा रही है। जहां अब जाम की स्थिति बन रही है। भीड़ में लापरवाही हुई तो फिर से कोरोना के गंभीर परिणाम सामने आ सकते हैं। सोमवार को जिले में सात नए मरीजों की पहचान की गई है, जिनमें से चार शहरी क्षेत्र के रहने वाले हैं। वहीं सोमवार को जिले में एक बार फिर मौत का आंकड़ा शून्य रहा।

जून महीने में कोरोना की स्थिति के नियंत्रण में आने की शुरुआत हुई है। जून के पहले सप्ताह तक रोजाना 30 से 40 मरीजों की पहचान हो रही थी, लेकिन इसके बाद संक्रमितों की संख्या में तेजी से गिरावट दर्ज की गई। मौजूदा स्थिति में जिले में औसतन रोजाना पांच से 10 मरीज मिल रहे हैं। 21 जून तक की स्थिति में इस कुल 358 संक्रमित मिले हंै। वहीं अप्रैल और मई दो महीने के भीतर ही जिले में 35 हजार से ज्यादा संक्रमित मिले थे।

साफ है कि स्थिति नियंत्रण में आ चुकी है। लेकिन, बाजारों में बढ़ती भीड़ ने फिर से चिंता बढ़ा दी है। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों का कहना है कि कोरोना वायरस का स्ट्रेन कमजोर हो चुका है। इधर भीड़ बढ़ती रही है और लापरवाही हुई तो लोगों का कोरोना से संक्रमित होने का सिलसिला फिर से शुरू हो सकता है।

यदि ज्यादा लोग संक्रमित हुए तो कोरोना वायरस के स्ट्रेन में बदलाव आ सकता है और फिर ताकतवर होकर गंभीर परिणाम दे सकता है। इसलिए बेवजह भीड़ से बचने की सलाह के साथ गाइडलाइन का पालन करने की समझाइश जिलेवासियों को दी जा रही है।

देवकीनंदन चौकसे सिटी कोतवाली तक बेहद संवेदनशील

मौजूदा स्थिति में सबसे ज्यादा भीड़ देवकीनंदन चौक से लेकर सिटी कोतवाली चौक तक की सड़क में लग रही है। यहां गोलबाजार, सदर बाजार जैसे बड़े बाजार हैं। ऐसे में सुबह 11 बजे से देर शाम तक भीड़ बनी रहती है। शाम में इस सड़क पर जाम की स्थिति बनने लगती है। इसके अलावा तेलीपारा रोड, सिटी कोतवाली से गांधी चौक तक, कलेक्टोरेट परिसर, माल के साथ विभिन्न् सब्जी बाजार में लोगों की भीड़ बढ़ती ही जा रही है।

होम आइसोलेट में बढ़े मरीज

वैसे तो इन दिनों कम मरीज मिल रहे हैं। मिलने वाले ज्यादातर मरीज की हालत इतनी खराब नहीं है। सामान्य लक्षण से ग्रसित मिल रहे हैं। ऐसे में कम ही लोग अस्पताल पहुंच रहे हैं। ज्यादातर होम आइसोलेट होकर अपना उपचार करा रहे हैं। इसी वजह से पिछले कुछ दिनों से होम आइसोलेट रहने वाले मरीजों की संख्या बढ़ रही है। मौजूदा में 400 से ज्यादा होम आइसोलेट चल रहे हैं।

कोरोना नियंत्रण में चल रहा है। सोमवार को 11 मरीज मिले हैं। लेकिन, इन सब के बीच बाजारों में बढ़ती भीड़ ने चिंता बढ़ा दी है। लापरवाही करने पर लोग संक्रमण के दायरे में आ सकते हैं। गाइडलाइन का पालन करना जरूरी है।

डा. प्रमोद महाजन, सीएमएचओ, बिलासपुर

Posted By: sandeep.yadav
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.