HamburgerMenuButton

Crime News In Ambikapur: कपड़ा दुकान में आग,दमकल वाहन की कमी खली,लाखों का नुकसान

Updated: | Sun, 16 May 2021 04:15 PM (IST)

अंबिकापुर।Crime News In Ambikapur: नगर पंचायत राजपुर के महुआपारा स्थित कपड़े की दुकान में आग लग जाने से बड़ा नुकसान हुआ है। शनिवार देर रात आग लगने के बाद आसपास रहने वाले लोगों के द्वारा ट्यूबवेल के माध्यम से पानी का छिड़काव कर आग पर काबू पाया जा सका। तब तक दुकान में रखे कई सामान और रैक का हिस्सा जल चुका था।

शार्ट सर्किट से आग लगने की आशंका है। घटना के दौरान दमकल वाहन की कमी राजपुरवासियों को एक बार फिर खली। दमकल वाहन नहीं होने से आग बुझाने में लोगों को भारी परेशानी उठानी पड़ी। समय भी ज्यादा लगा। राजपुर नगर पंचायत के महुआपारा में निवासी गुफराना खातुन पति नूर हसन का शना ब्यूटी पार्लर एंड लेडिज वियर नाम से दुकान संचालित है। शनिवार की रात लगभग 11 बजे लोगों ने दुकान के भीतर से धुआं उठता देखा। दुकान में आग लगने की आशंका पर संचालक के स्वजनों को सूचना दी गई।

लोग मौके पर पहुंचे तो पता चला कि दुकान में आग लग गई है और भीतर रखे सामान धू-धू कर जल रहे हैं। स्थानीय स्तर पर दमकल नहीं होने के कारण पुलिसकर्मियों तथा पड़ोसियों की मदद से ट्यूबवेल के पानी से आग बुझाना शुरू किया गया। लगभग दो घंटे की मेहनत के के बाद आग पर काबू पाया जा सका। इस दौरान दुकान में रखे कपड़े, रैक समेत अन्य सामान जलकर खाक हो गए थे।

दुकान संचालक के अनुसार दो से तीन लाख रुपये का नुकसान हुआ है। लाकडाउन के कारण दुकान नहीं खुलने से वैसे ही व्यापारी नुकसान झेल रहे हैं, वहीं आग से हुई क्षति से संचालक को बड़ा नुकसान उठाना पड़ा है। रविवार सुबह से दुकान की साफ-सफाई का काम चल रहा है।

राजपुर नगर पंचायत के पास अभी तक दमकल वाहन उपलब्ध नहीं है। शनिवार रात दुकान में आग लगने के बाद उस पर काबू पाने जिस तरह लोग परेशान हुए यदि दमकल वाहन होता तो आग पर जल्दी काबू पाया जा सकता था और नुकसान भी कम होता। आग लगने की स्पष्ट वजह सामने नहीं आई है लेकिन घटनास्थल की परिस्थितियों को देख शार्ट सर्किट का संदेह जताया जा रहा है।

Posted By: anil.kurrey
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.