festival of lights : नगर के सदर बाजार में बिकने के लिए आए दीये

Updated: | Tue, 26 Oct 2021 05:15 PM (IST)

Bilaspur News : बिलासपुर। मुंगेली में दीप पर्व नजदीक आते ही बाजारों में मिट्टी के दीये बिक्री के लिए पहुंचने लगी है। कुम्हारपारा में घरों को रोशन करने मिट्टी के सुंदर-सुंदर दीये गढ़े जा रहे हैं। इस बार दीया 80 रुपये सैकड़ा की हिसाब से मिल रहा है।

कुम्हारपारा में मूर्तिकार गणेश एवं दुर्गा प्रतिमाओं के बाद अब दीपावली पर्व को ध्यान में रखते हुए दीये बनाने का काम कर रहे हैं । इस संबंध में लोगों ने बताया कि बड़ा बाजार एवं खर्रीपारा में कुम्हार परिवार दीपावली के लिए दीये बनाने का काम पहले से शुरू कर दिए हैं । दीये बनाने कई परिवार के लोग लगे हुए हैं। ज्ञात हो मिट्टी लाने से लेकर पकाने तक का काम पूरा परिवार मिलकर करते हैं । कुम्हार मिट्टी के दीये के साथ-साथ नंदी व लक्ष्मी की मूर्ति बना रहे हैं ।

हिंदूओं का सबसे बड़ा त्यौहार होने के कारण लोगों के घरों में आज भी इन दीयों से घर रोशनी होती है। मिट्टी से बने दीये दीवाली में खूब बिकते हैं। बड़ा बाजार कुम्हारपारा में लगभग परिवार के लोग रहते हैं इसमें से छह -सात परिवार मिट्टी के दीये गढ़ने का काम कर रहे हैं । एक परिवार द्वारा दीपावली त्यौहार के समय लगभग दस से 12 हजार दीये बनाकर बेचा जाता है।

दीये 80 रुपये सैकड़ा की हिसाब से बिक रहा है। दीये बना रहे कुंभकार ने बताया कि मिट्टी के दीये बनाने के लिए इस वर्ष मौसम प्रतिकूल रहा है। पूर्व में लगातार बारिश हो रही थी। बारिश बंद होने के पश्चात मिट्टी के कार्यों में तेजी आई हैं। लकड़ी, कंडा व पैरा डालकर पांच हजार दीये एक भट्टी में लगाई जाती है।

Posted By: Yogeshwar Sharma