हाथियों ने तीन मकान ढहाए, नौ खेतों की फसल भी तबाह

Updated: | Tue, 07 Dec 2021 07:00 AM (IST)

बिलासपुर । मरवाही वनमंडल में 43 हाथियों के दल ने तीन मकान ढहाए। वहीं नौ खेतों की फसल को रौंद दिया। ग्रामीणों में दहशत बरकरार है और वे इनके लौटने का इंतजार कर रहे हैं। ग्रामीणों में नुकसानी के साथ इस बात को लेकर भी दहशत है कि किसी तरह जनहानि न हो जाए। यही वजह है कि अधिकांश गांव के ग्रामीणों को पूरी रात जागकर गुजारनी पड़ रही है।

हाथी लगातार इस क्षेत्र में नुकसान पहुंचा रहे हैं। इससे ग्रामीणों की चिंता बढ़ गई है। वन अमला भी परेशान है, क्योंकि उनकी निगरानी करने के लिए भारी मशक्कत करनी पड़ रही है। हालांकि विभाग के पास निगरानी के अलावा कोई दूसरा विकल्प भी नहीं है। वन विभाग के अनुसार हाथियों का दल मरवाही परिक्षेत्र के नाका परिसर स्थित कक्ष क्रमांक 2005 में है। शाम तक दल यहां मौजूद था।

मटियाडांड परिसर तथा कटघोरा वन मंडल के पसान होते हुए लौटने की उम्मीद है। इधर वनकर्मियों की संख्या बढ़ा दी गई है। वन परिक्षेत्र अधिकारी दरोगा सिंह ने बताया कि कुछ वन रक्षकों को सतत निगरानी ड्यूटी लगाई गई। इसके साथ ही वे ग्रामीणों को भी समझाइश देकर नजदीक न जाने, फोटोग्राफी आदि से भी बचने का सुझाव दे रहे हैं।

इससे उनकी जान को खतरा हो सकता है। ग्रामीणों से अपील भी की जा रही है वे जंगल के अंदर न जाए। इससे हाथी और भी आक्रामक हो सकते हैं। अभी केवल मकान व ज्यादातर फसलों को नुकसान पहुंचा रहे हैं। किसी तरह जनहानि नहीं हुई है। सावधानी बरतकर ही हाथियों से बचा सकता है।

Posted By: Yogeshwar Sharma