Forest News in Bilaspur: बिलासपुर के बाजार में खुलेआम बिक रहा प्रतिबंधित करील

Updated: | Tue, 03 Aug 2021 03:40 PM (IST)

बिलासपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)।Forest News in Bilaspur: प्रतिबंध के बाद में शहर के सभी प्रमुख बाजारों में करील बिक रहा है। वन विभाग के पास इतनी फुर्सत नहीं है कि जांच या कार्रवाई कर कर ऐसे लोगों पर शिकंजा कस सके। इससे बांस के जंगल में खतरा मंडराने लगा है। करील बांस का शिशु रूप है। पर पेड़ बनने से पहले लोग से निकाल ले रहे हैं। करील की बिक्री बृहस्पति बाजार, शनिचरी बाजार में हो रही है। सबसे बड़ी तादात में लोग कचहरी के सामने सड़क किनारे इसे बेचते नजर आ रहे हैं। यह मुख्य मार्ग है और पूरे समय आवाजाही रहती है। वन अमला में यहां से गुजरता है। पर इसे देखकर नजर अंदाज कर देते हैं। इससे वन विभाग की सक्रियता पर भी सवाल खड़ा हो रहा है।

जून से अगस्त तक बांस के झुरमुटों से नई कोपलों को निकाला जाता है। नियमानुसार तो ऐसे लोगों पर जंगल के अंदर कार्रवाई होनी चाहिए। पर मैदानी अमला उन्हें नहीं रोका पाता। यही वजह है कि कोपले निकालकर उसे बिक्री के लिए बाजार में ले आते हैं।

विभाग की निष्क्रियता की वजह से ऐसे लोगों का मनोबल बढ़ रहा है और भारी कीमत में इसे खुले आम बेच रहे हैं। ऐसा माना जाता है कि करील में कई औषधीय गुण होते है। करील की सब्जी, अचार आदि चीजें बनाकर इसका सेवन किया जाता है। कोपलें तोड़ लिए जाने से बांस को नुकसान पहुंचता है। बड़ी वजह है कि बांस का जंगल अब संकटग्रस्त हो गया है।

इस बार नहीं हुई मुनादी

करील की बिक्री रोकने के लिए वन विभाग की ओर से पहले शहर के सभी प्रमुख बाजारों में मुनादी होती थी। इस बार मुनादी भी नहीं कर रहे हैं। इसलिए व्यासायियों में विभाग का भी खौफ नहीं रह गया है।

Posted By: anil.kurrey