HamburgerMenuButton

Bilaspur News: पूर्व मंत्री ननकीराम कंवर ने दी थी अनशन की चेतावनी, राज्य शासन ने लिया ये फैसला

Updated: | Sat, 28 Nov 2020 01:00 PM (IST)

बिलासपुर। Bilaspur News: जनपद पंचायत के सीईओ एसएस रात्रे को अंतत: राज्य शासन ने हटा दिया। उनके स्थान पर निलंबित गोपाल कृष्ण मिश्रा को पदस्थ किया गया। रात्रे व जनपद पंचायत उपाध्यक्ष कौशिल्या देवी वैष्णव के मध्य विवाद चल रहा था। इस बीच पूर्व गृहमंत्री व विधायक ननकीराम कंवर ने भी रात्रे को नहीं हटाए जाने पर अनशन करने की चेतावनी दी थी।

राज्य शासन के आरए निर्मलकर ने एक आदेश जारी कर रात्रे को सहायक आयुक्त आदिवासी विकास विभाग में पदस्थ किया है। शासन ने गोपाल कृष्ण मिश्रा का निलंबन भी रद कर दिया है।

जनपद पंचायत में जनपद उपाध्यक्ष कौशिल्या देवी वैष्णव व सीईओ एसएस रात्रे के मध्य लंबे समय से विवाद चल रहा था और जनपद उपाध्यक्ष ने सीईओ के खिलाफ कार्रवाई कर हटाने के लिए पत्र लिखा था। इसके साथ ही रात्रे के खिलाफ पंचायत सचिवों ने भी मोर्चा खोल दिया था और उपाध्यक्ष के साथ जनपद की सामान्य सभा का भी बहिष्कार कर दिया था।

एक दिन पहले रामपुर विधायक ननकीराम कंवर ने कहा था कि जनपद सीईओ ने चुने हुए प्रतिनिधियों से अभद्रता और गाली गलौच की है। इसकी शिकायत कलेक्टर से मुख्यमंत्री तक किए जाने के बाद भी कार्रवाई नहीं की गई। इसलिए बाध्य होकर जनप्रतिनिधियों को धरना प्रदर्शन करना पड़े, तो इससे ज्यादा क्या दुर्भाग्य हो सकता है।

उन्होंने कहा कि जनप्रतिनिधियों के साथ अभद्रता बर्दाश्त नहीं की जाएगी। साथ ही उन्होंने जनप्रतिनिधियों के समर्थन में अनशन करने की चेतावनी भी दी थी। स्थानांतरण के बाद जनपद में लंबे समय से जनप्रतिनिधि व सीईओ रात्रे के मध्य चला आ रहा विवाद भी समाप्त हो गया।

Posted By: sandeep.yadav
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.