गौरेला में दो स्कूली बच्चे समेत चार संक्रमित, मुंगेली में हनीमून से लौटा पति भी पाजिटिव

Updated: | Sun, 05 Dec 2021 07:00 AM (IST)

बिलासपुर। गौरेला-पेंड्रा-मरवाही जिले के गौरेला में निजी स्कूल के दो छात्र कोरोना पाजिटिव पाए गए हैं। ऐसे में स्कूल में हड़कंप मच गया है। उनके संपर्क में आने वाले बच्चों का कोरोना टेस्ट किया जा रहा है। गौरेला के एक अन्य निजी स्कूल के प्राचार्य व उनकी पत्नी भी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। दोनों की ट्रेवल हिस्ट्री है। इसके अलावा मुंगेली जिले में हनीमून से लौटा युवक पाजिटिव पाया गया है। हालांकि पत्नी की रिपोर्ट निगेटिव है।

कोरोना के बढ़ते मामले को गौरेला-पेंड्रा-मरवाही प्रशासन ने गंभीरता से लिया है। कलेक्टर नम्रता गांधी ने सीएमएचओ को पांच-पांच ग्राम पंचायतों का कलस्टर बनाने और कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए मेडिकल टीम बनाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने पहली और दूसरी लहर की तरह कंटेनमेंट जोन बनाने, नोडल अधिकारी नियुक्त करने, कोरोना पाजिटिव की कांटेक्ट ट्रेस, सैंपल जांच बढ़ाने और अस्पतालों में कोरोना इलाज की व्यवस्था करने के निर्देश दिए हैं।

वहीं मुंगेली के सुभाष वार्ड निवासी नवदंपती पिछले दिनों हनीमून मनाने के लिए मालद्वीव गया था। पत्नी-पत्नी एक सप्ताह पहले लौटे हैं। इसके बाद पति में सर्दी, खांसी, बुखार के लक्षण मिले। जांच करने पर वह कोरोना पाजिटिव निकला। लेकिन पत्नी की रिपोर्ट निगेटिव आई है। कोरोना वायरस के नए खतरनाक वेरियंट ओमिक्रोन की आशंका को देखते हुए युवक का सैंपल जांच के लिए भुवनेश्वर भेजा गया है।

तीन संक्रमित मिले, 11,530 को लगा टीका

शनिवार को बिलासपुर जिले में तीन कोरोना संक्रमित की पहचान की गई है। इसमें से दो खमतराई और एक सरकंडा क्षेत्र का रहने वाला है। तीनों की हालत सामान्य होने पर होम आइसोलेट होकर उपचार की अनुमति दी गई है। अभी जिले में महामारी नियंत्रण में चल रही है। शनिवार को 1,520 लोगों की कोरोना जांच की गई है। वहीं, कोरोना टीकाकरण अभियान के तहत शनिवार को 260 टीकाकरण में कुल 11,530 को टीका लगाया गया है। इसमें 3,126 को पहले चरण की डोज लगाई गई है। वहीं 8,404 को दूसरे चरण का टीका लगाया गया है।

Posted By: Yogeshwar Sharma