Legal Awareness Campaign: फिल्म और वीडियो के जरिए फैला रहे कानूनी शिक्षा का उजियारा

Updated: | Mon, 20 Sep 2021 06:40 AM (IST)

बिलासपुर। Legal Awareness Campaign: आडियो, वीडियो और लघु फिल्मों के जरिए विधि अधिकारी गांव-गांव में कानूनी शिक्षा का उजियारा फैला रहे हैं। लोगोें को संविधान में दिए कानूनी अधिकार से अवगत करा रहे हैं और अधिकाराें के प्रति सजग रहने की शिक्षा भी दे रहे हैं। शीर्ष अदालत के निर्देश पर छत्तीसगढ़ हाई कोर्ट ने जिले के ग्रामीण इलाकों में कानूनी शिक्षा व साक्षरता के लिए 100 लीगल एड क्लीनिक बसों को रवाना किया है।

लीगल एड क्लीनिक बसों ने कम से कम 100 गांवों में जाकर न्याय के लिए जागरूकता लाने का कार्य शुरू कर दिया है। इन बसों में शामिल टीम के सदस्य आम लोगों के बीच हाट बाजारों व विभिन्न् सार्वजनिक स्थलों पर विधिक जागरूकता संबंधी लघु फिल्म दिखा रहे हैं। फिल्म दिखाने के बाद सवाल जवाब के माध्यम से लोगों को कानूनी अधिकार के प्रति सजग कर रहे हैं और अपने अधिकार के प्रति सतर्क रहने की समझाइश भी दे रहे हैं।

100 से अधिक शिविरों के दौरान उन सभी महत्वपूर्ण कानूनों के बारे में जानकारी दी जाएगी जो स्वस्थ समाज के लिए आवश्यक है। इनमें गुड टच बैड टच, छात्रावासों में रहने वाले बच्चों के अधिकार, खेलों में भाग लेने की प्रेरणा, साइबर अपराध के प्रति सचेत करना, साइबर कानून के प्रति जागरूक रहना शामिल है। साथ ही ड्रंक एंड ड्राइव के कानून, भ्रूण परीक्षण पर प्रतिबंध संबंधी कानून, पाक्सो एक्ट की गंभीरता, कार्यस्थल पर महिलाओं के अधिकार और समान वेतन का अधिकार जैसे अनेक विषयों की जानकारी दी जा रही है।

इन प्रकरणों पर फोकस

राज्य में विधिक सहायता और आपसी समझौते से परिवादों के निराकरण के लिए लगाए जाने वाले लोक अदालतों की जानकारी भी दे रहे हैं। विवादों के निपटारे के लिए लोक अदालत शिविरों का लाभ उठाने की अपील भी कर रहे हैं। घरेलू हिंसा से जुड़े कानून की जानकारी दी जा रही है। कर्तव्य अभियान के तहत संविधान के अनुच्छेद 51 को लेकर जागरूक कर रहे हैं।

Posted By: Yogeshwar Sharma