Mega Legal Service Camp: सक्षम नहीं वह भी न्याय से वंचित न रहे, यह सरकार की जिम्मेदारी: सीजे गोस्वामी

Updated: | Mon, 25 Oct 2021 12:09 AM (IST)

बिलासपुर(नईदुनिया प्रतिनिधि)।Mega Legal Service Camp: आजादी के अमृत महोत्सव के तहत रविवार को छत्तीसगढ़ के सभी जिलों में ई-मेगा लीगल सर्विस कैंप का आयोजन किया गया। हाई कोर्ट में इस कार्यक्रम का उद्घाटन करते हुए उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश जस्टिस अरुप कुमार गोस्वामी ने कहा कि राज्य को यह सुनिश्चित करना होगा कि किसी भी व्यक्ति को मात्र इसलिए कि वह आर्थिक रूप से सक्षम नहीं है, उसे न्याय से वंचित नहीं रखा जा सकता है।

उन्होंने कहा कि संविधान के अनुच्छेद 39 (ए) के अनुसार समाज के वंचित वर्ग को निश्शुल्क न्याय प्रदान करने का कार्य राज्य सरकार द्वारा किया जाना है। अपने इन्हीं दायित्वों के निर्वहन को पूर्ण करने के लिए राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण अधिनियम पारित किया गया है। छत्तीसगढ़ राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण भी इस अधिनियम द्वारा निर्मित संस्था है। राज्य प्राधिकरण द्वारा समाज के वंचित वर्ग को विधिक जानकारी प्रदान कर सशक्त बनाए जाने का कार्य किया जाता है।

इसी के तहत ई-मेगा विधिक सेवा शिविर आयोजित कर समाज के वंचित वर्ग के लोगों को सहायता प्रदान की जाएगी। शिविर में पैरालीगल वालंटियर एवं पैनल लायर की टीम गठित कर राज्य के प्रत्येक ग्राम में घर-घर जाकर विधिक जानकारियां प्रदान की जा रही हंै। कार्यक्रम में उपस्थित जस्टिस गौतम भादुड़ी ने कहा कि दंतेवाड़ा से लेकर अंबिकापुर तक विस्तृत रूप से यह वर्चुअली मेगा लीगल कैंप आयोजित हो रहा है।

बीते वर्ष आयोजित मेगा कैंप में करोड़ों रुपये के अवार्ड पारित किए गए थे और आठ लाख से अधिक लाभान्वित हुए थे। हाई कोर्ट के जस्टिस आरसीएस सामंत, जस्टिस रजनी दुबे, जस्टिस नरेन्द्र कुमार व्यास, जस्टिस नरेश कुमार चंद्रवंशी, जस्टिस दीपक कुमार तिवारी, महाधिवक्ता सतीशचंद्र वर्मा, छत्तीसगढ़ राज्य न्यायिक अकादमी के चेयरमैन केएल चरियानी, रजिस्ट्रार विजिलेंस संतोष शर्मा समेत रजिस्ट्री विभाग के अन्य अधिकारी और बार कौंसिल के पदाधिकारी कार्यक्रम में उपस्थित थे।

1295 हितग्राही हुए लाभान्वित

कैंप के जरिए जिले के विभिन्न् विभागों के 1,295 हितग्राहियों को लाभ पहुंचाया गया। गौरेला-पेंड्रा-मरवाही जिले में भी 106 हितग्राहियों को लाभान्वित किया गया। 41 लाख 59 हजार 638 रुपये की राशि व सामग्री का वितरण किया गया। शिविर में हितग्राहियों को 70 उपकरण व 1,114 प्रमाण पत्रों का वितरण किया गया। पीड़ित क्षतिपूर्ति योजना के तहत 29 लाभार्थियों को 52 लाख 95 हजार रुपये की क्षतिपूर्ति दी गई।

Posted By: Yogeshwar Sharma