नाबालिग को बड़ी मां ले गई नागपुर, दो लाख लेकर अजमेर में करा दी शादी

शादी से पहले नाबलिग से दुष्कर्म, बड़ी मां समेत पांच आरोपित गिरफ्तार

Updated: | Thu, 27 Jan 2022 06:33 PM (IST)

बिलासपुर। कोतवाली क्षेत्र में रहने वाली महिला अपनी ही नाबालिग भतीजी को काम दिलाने का झांसा देकर महाराष्ट्र के नागपुर ले गई। वहां अपने साथियों के साथ किशोरी का नाम बदलकर दो लाख स्र्पये लेकर राजस्थान के अजमेर में शादी करा दी। मामले में पुलिस ने पीड़ित किशोरी की बड़ी मां समेत पांच आरोपितों को गिरफ्तार किया है। एसपी पास्र्ल माथुर ने गुस्र्वार बिलासागुड़ी में को प्रेसवार्ता में बताया कि कोतवाली क्षेत्र में रहने वाली महिला ने अपनी 16 वर्षीय बेटी के गायब होने की शिकायत दर्ज कराई थी। पीड़िता ने बताया कि नाबालिग के साथ उसकी बड़ी मां भी गायब है।

उन्होंने बड़ी मां द्वारा बहला-फुसलाकर ले जाने की आशंका व्यक्त की। इस पर पुलिस अपहरण का मामला दर्ज कर नाबालिग की तलाश कर रही थी। साइबर सेल की जांच में महिला के मोबाइल का लोकेशन महाराष्ट्र के नागपुर में मिला। इस पर पुलिस की एक टीम को नागपुर भेजा गया। पुलिस ने नागपुर के गणेशपेठ में दबिश देकर स्र्कसार खान(24) और आकाश सिरवाते(30) को पकड़ लिया। दोनों ने पूछताछ में बताया कि उनका साथी नीरज चापले(30) नाबालिग और उसकी बड़ी मां को लेकर आया था।

उन्होंने नाबालिग का फर्जी आधारकार्ड बनवाकर राजस्थान के अजमेर में रहने वाले रतन प्रजापति से दो लाख स्र्पये लेकर शादी करा दी। नाबालिग की बड़ी मां ने भी अजमेर में रहने वाले गोविंद जाट से शादी कर ली। इसमें स्र्कसार और आकाश के साथी नंदकिशोर शर्मा(30) ने बिचौलिए की भूमिका निभाई। मामले में पुलिस ने नाबालिग की बड़ी मां समेत पांच आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं, नाबालिग से शादी करने वाला रतन प्रजापति फरार है। पुलिस उसकी तलाश कर रही है। मामले में पुलिस ने 65 हजार स्र्पये नकद, छह मोबाइल जब्त किया है।

शादी से पहले बिचौलिए ने भी किया दुष्कर्म

पुलिस ने नाबालिग को अजमेर से बरामद कर लिया है। उसने अपने बयान में बताया कि शादी कराने से पहले नंदकिशोर शर्मा ने उसके साथ दुष्कर्म किया है। इसके अलावा उसने शादी कराने के लिए मोटी रकम कमीशन के रूप में भी ली थी।

Posted By: Yogeshwar Sharma