Hummer Gothan : नेवरा के गौठान में पानी तक नहीं, समस्या

Updated: | Fri, 22 Oct 2021 05:11 PM (IST)

Bilaspur News :बिलासपुर । तखतपुर जनपद पंचायत के अंतर्गत शासन की महत्वपूर्ण योजना हमर गांव हमर गौठान का हाल बेहाल है। इस ओर ना तो अधिकारी और ना ही पंचायत के जनप्रतिनिधि ध्यान दे रहे है।

पानी तक की व्यवस्था नहीं है। समूह की सदस्यों ने बताया कि समस्याओं को सुनने वाला कोई नहीं है।

तखतपुर जनपद पंचायत के अंतर्गत ग्राम पंचायत नेवरा में स्थित गौठान है। जहां गौठान समिति के सदस्य एवं समूह की महिलाएं तो काम कर रही हैं परंतु उनके सामने आने वाले चुनौतियों एवं समस्याओं को दूर करने वाला कोई नहीं है। इससे उनके भी हौसले पस्त होते जा रहे हैं। लोगों ने बताया कि नेवरा पंचायत में गौठान का लोकार्पण स्वयं मुख्यमंत्री ने किया था। इसके लिए लाखो रुपये खर्च भी किया गया।

लोकार्पण के पूर्व यहां अधिकारियों की भीड़ रहती थी आये दिन कोई ना कोई अधिकारी दौरे में पहुंच जाते थे। ब्लाक स्तर के अधिकारी कर्मचारियों का तो दिन रात ड्यूटी लगा दी गई थी। गौठान को तैयार कराने के बाद लोकार्पण के बाद इस गौठान को सब भूल ही गए हैं यहां करीब दो माह से ट्यूबवेल खराब पड़ा हुआ है इसे देखने वाले कोई नहीं है। इससे समूह द्वारा नाडेप टेंक में डाला गया केचुआ पानी की कमी से मरने लगे है तो वहीं गौमवेशियों के लिए पानी के पीने के लिए किसी प्रकार की सुविधा नहीं है।

इस संबंध में जानकारी देते हुए गौठान में खाद बनाने में समूह का सहयोग करने वाले अजय साहू ने बताया कि गौठान में करीब दो माह से ट्यूबवेल खराब पड़ा है। इसकी जानकारी पंचायत सचिव एवं सरपंच को दे दी गई है तथा जल्द बनवाने के आग्रह किया गया था आज तक बोर चालू नहीं हो पाया है। पानी नहीं होने के कारण 1200 रुपये किलो में महिला समूह द्वारा खरीद कर लाए गए केुचआ अब मरने लगे हंै। इससे महिला समूह में आक्रोश रहा है। वहीं इस संबंध में जब सचिव दिनेश साहू ने जानकारी ली गई तो उनका कहना था कि बोर बनाने का काम पंचायत का नहीं है बल्कि क्रेडा की है। इसके लिए जनपद पंचायत में उन्होंने जानकारी दे दिया है।

वहीं इस संबंंध में जानकारी लेने पर जनपद पंचायत के सीईओ ने बताया कि दो दिन पूर्व ही सचिव के द्वारा बोर खराब होने की जानकारी दी गई है। जबकि जिस क्रेडा को जिम्मेदार बताया जा रहा है उसको बोर खनन की जानकारी ही नहीं हुआ था। क्रेडा के अधिकारी विनोद राठौर से जब बात की गई तो उन्होंने बताया कि अभ्ाी तक उनके पास कोई जानकारी ही नहीं पहुंची है। दो माह बाद जब जिम्मेदार अधिकारी कर्मचारी के पास समस्याओं की सूचना नहीं और उस पर कार्य नहीं होना यही बताती है कि इस महत्वपूर्ण योजना का गौठान चल रहा है। यह हाल केवल नेवरा की ही नहीं है बल्कि अधिकांश गौठान की है ।इसे लेकर समूह की सदस्यों में आक्रोश व्याप्त है।

गौठान में जो बोर है उसको बनाने का काम क्रेडा का हैै। नेवरा के गौठान के संबंध में जानकारी क्रेडा को भेज दी गई है यदि उनको जानकारी नहीं है तो तत्काल जानकारी देकर बोर बनवाया जाएगा।

- हिमांशु गुप्ता, सीईओ तखतपुर

Posted By: Yogeshwar Sharma