HamburgerMenuButton

Bilaspur News: नान में परिवहन घोटाला: 191.60 मीट्रिक टन धान का परिवहन ट्रकों की जगह बाइक, कार और आटो से

Updated: | Sun, 24 Jan 2021 08:45 AM (IST)

बिलासपुर। Bilaspur News: पूर्ववर्ती भाजपा की सरकार में जब डा. रमन सिंह मुख्यमंत्री थे, तब वर्ष 2011 से 2015 के बीच 36 हजार करोड़ रुपये का नान(नागरिक आपूर्ति निगम) घोटाला हुआ था। इसकी कई पहलुओं पर जांच और इससे संबंधित याचिकाओं पर हाई कोर्ट में सुनवाई चल रही है। इसमें पता चला है कि राज्य सरकार ने समर्थन मूल्य पर धान खरीदने के बाद राज्य के अलग-अलग संग्रहण केंद्रों से ट्रकों के बजाय मोटर साइकिल, कार, आटो, एंबुलेंस, बस और पानी के टैंकर से परिवहन किया।

कैग(नियंत्रक एवं महालेखापरीक्षक) की रिपोर्ट में इस गड़बड़ी का पता चला। इन वाहनों के जरिए 191.60 मीट्रिक टन धान का परिवहन किया गया है। राजनादगांव और बिलासपुर जिले के संग्रहण केंद्रों में तो पानी के टैंकर और मोटरसाइकिल से परिवहन होने की जानकारी सामने आई।

नान घोटाले और मामले की सीबीआइ से जांच कराने की मांग को लेकर छत्तीसगढ़ हाई कोर्ट में छह जनहित याचिकाएं दायर की गई हैं। इस पर प्रति सप्ताह बुधवार और शुक्रवार को सुनवाई हो रही है। हमर संगवारी संस्था की ओर से दायर याचिका पर सुनवाई के दौरान उनके वकील सुदीप जौहरी ने विशेष डीबी के समक्ष कैग की रिपोर्ट के दस्तावेज पेश किए, जिस पर चर्चा हुई।

नान और मार्कफेड के अधिकारियों ने प्रदेश के संग्रहण केंद्रों से धान परिवहन में जमकर फर्जीवाड़ा किया है। धान परिवहन में जिसे भारी वाहन बताया गया है कि वह बाइक से लेकर एंबुलेंस, बस और पानी का टैंकर निकले हैं। जांच के दौरान कैग के अफसरों को आशंका हुई। प्रदेश के अमूमन सभी जिलों के क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी कार्यालय से जब धान परिवहन वाले वाहनों के नंबर की जानकारी मांगी गई तब फर्जीवाड़ा फूटा।

जिला व संग्रहण केंद्र का नाम वाहन संख्या वाहन का प्रकार धान परिवहन( मीट्रिक ट्रन में)

जांजगीर-चांपा सीजी 10,जी 0363 बस 17.70

रायपुर, अभनपुर सीजी 04,बी 7957 कार 3.80

रायपुर, लखौली सीजी 04,बी 1556 डिलीवर आटो 16.60

राजनादगां, तेलकाडीह सीजी 08,ए 3282 बाइक 16.80

टैंकर के जरिए 136.70 मीट्रिक धान का परिवहन

राजनादगांव,लेज्वरा सीजी 07, एनए 3389

राजनादगांव लेज्वरा सीजी 07, एल डब्ल्यू 5189

बिलासपुर,मस्तूरी सीसीजी, जेड सी 0623

Posted By: Yogeshwar Sharma
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.