Underground Water in Bilaspur: बिलासपुर के ग्रामीण क्षेत्रों में रसातल में जाते भूजल को नरवा योजना से मिली संजीवनी

Updated: | Mon, 20 Sep 2021 11:41 PM (IST)

बिलासपुर। Underground Water in Bilaspur: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की महत्वाकांक्षी योजना नरवा, गरुवा,घुुरुवा व बाड़ी योजना में से एक नरवा विकास योजना ने रसातल में जाते भूजल को संरक्षित रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। नरवा विकास योजना के कारण भूजल स्तर में इस बार बढ़ोतरी हुई है। पीएचई और भूजल विज्ञानियों की मानें तो भूजल स्तर में 2.26 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है,यह अच्छा संकेत है।

इससे साफ है कि गर्मी के दिनों में ग्रामीणों को बूंद-बंूद पानी के लिए भटकना नहीं पड़ेगा। हैंडपपों के अलावा किसानों के ट्यूबवेल के जल स्तर में गिरावट की शिकायतें भी नहीं आएंगी। कृषि विभाग के आंकड़े पर नजर डालें तो 149.94 हेक्टेयर सिंचित क्षेत्रफल एवं 2.41 प्रतिशत फसल उत्पादन में वृद्धि नरवा उपचार के बाद देखी गई है। प्रथम चरण में जिले के 38 नरवा जो मृत अवस्था में पहुंच गया था। उसे पुनर्जीवित कर नया जीवन दिया गया है। इन सभी का असर है कि अब बिलासपुर जिले के ग्रामीण क्षेत्रों के जिन इलाकों में बारिश के बाद जल ठहराव के उपाय नहीं होने से सूखे के हालात बन जाते थे वहां अब न सिर्फ जलस्तर बढ़ा है बल्कि सतही जल का उपयोग निस्तारी व सिंचाई दोनो में उपयोग हो रहा है। एक तरह से किसानों के लिए यह योजना वरदान साबित हुई है।

ग्राम पंचायतों की संख्या-153

नरवा की संख्या-38

प्रवाहित नरवा की दूरी-.26 किलोमीटर

वन भूमि क्षेत्र-33.32 किलोमीटर

राजस्व भूमि क्षेत्र- 330.94 किलोमीटर

कैचमेंट एरिया- 72865 हेक्टेयर

ड्रेनेज लाइन ट्रिटमेंट कार्य की संख्या-1101

ट्रीटमेंट के कार्य की संख्या- 527

ड्रेनेज व ट्रीटमेंट के कुल कार्यों की संख्या- 1628

ऐसे चला नरवा पुनस्र्द्धार के कार्य

कुल कार्यों की संख्या- 1297

ड्रेनज लाइन ट्रीटमेंट के तहत चेकडेम निर्माण-49

प्लग निर्माण- 168

लूज चेकडेम- 563

गेबियन-31

अर्दनडेम-2

डाइप-5

चेकडेम- 2

नाला गहरीकरण-64

सिल्ट चेंबर- 6

एरिया ट्रीटमेंट 7

प्लाटेंशन 1

डबरी 18

तालाब गहरीकरण 124

कूप निर्माण 2

रिचार्ज फीट 199

परकुलेशन टेंक 17

फार्म बंडिंग 40

कंटूर ट्रेंच 1

कंटूर बंडिंग 1

डब्लूएटी 1

Posted By: sandeep.yadav