HamburgerMenuButton

Bilaspur News: लुतरा दरगाह में परचम कुशाई के साथ हुआ उर्स का आगाज

Updated: | Thu, 03 Dec 2020 12:00 PM (IST)

बिलासपुर। Bilaspur News: सूफी संत हजरत बाबा सैय्यद इंसान अली शाह का पांच दिवसीय 62वां सालाना उर्स का परचम कुशाई के साथ आगाज हुआ। पांच दिन दूर-दूर से जायरिन पहुंचेंगे। इंतेजामिया कमेटी दरगाह लुतरा शरीफ के अध्यक्ष हाजी सैय्यद अकबर बख्शी ने बताया कि कोरोना काल में जायरिनों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए पहले की अपेक्षा बेहतर व्यवस्था बनाने का प्रयास किया गया है।

लुतरा शरीफ के सालाना उर्स में प्रदेश के साथ अन्य राज्यों से भी लोग दरगाह में चादर चढ़ाकर मन्न्ते मांगते हैं। आस्था की नगरी लुतरा शरीफ की दरगाह एक कौमी एकता की मिशाल है। छह दिसंबर को उर्स के अंतिम दिन कुल शरीफ की फातेहा व प्रदेश में अमन शांति की दुआ करेंगे। उन्होंने बताया कि जायरिनों को किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं हो इसके लिए कमेटी के सदस्यों को जिम्मेदारी बांटी गई है।

कोरोना संक्रमण के चलते इस बार मेले में कव्वाली, मुशायरा का आयोजन नहीं किया गया है। संक्रमण से बचने जायरिनों की दरगाह में प्रवेश करने से पहले थर्मल स्क्रीनिंग मास्क व सैनिटाइजर की सारी व्यवस्थाएं की गई है। दूर-दराज से आए जायरिनों के लिए लंगर की भी व्यवस्था की गई है।

आयोजन में सरपंच शुकवारा गंधर्व,जनपद प्रतिनिधि लक्ष्मी साहू, शमीम अख्तर, दरगाह कमेटी के कोषाध्यक्ष शेख निजामुद्दीन, रफीक मेमन, हाजी हसन अशरफी, शाही इमाम, शेख हमीद सेक्रेटरी अब्दुल वहाब, अशरफी शेख हिमायतुल्ला, सिराज मेमन, रज्ज़ाक अली, कृष्ण कुमार यादव, शहनवाज मेमन, योगेश साहू ,हाजी आमीन शेख, हाजी करीम बेग, मौलाना अब्दुल वहाब, अशरफी सहित सदस्य का विशेष योगदान है।

Posted By: sandeep.yadav
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.