Vaccination in Bilaspur: कोवैक्सीन की दूसरी डोज लगवाने के लिए बिलासपुर के कोरोनारोधी टीकारण केंद्रों में उमड़ी भीड़

Updated: | Thu, 16 Sep 2021 04:20 PM (IST)

बिलासपुर। Vaccination in Bilaspur: 12 दिन बाद जिले में कोवैक्सीन की 3800 डोज भेजी गई है। ऐसे में इसके दूसरे डोज का इंतजार कर लगभग 15 हजार से ज्यादा लोग टीका लगवाने के लिए केंद्रों में उमड़ गए। जिले के महज सात केंद्रों में कोवैक्सीन लगवाने की वजह से इन केंद्रों में काफी भीड़ उमड़ी और दूसरी डोज लगवाने के लिए लोगों को मशक्कत करनी पड़ी।

स्वास्थ्य विभाग को भी यह पता था कि जैसे ही कोवैक्सीन की डोज आएगी, वैसे ही केंद्रों में भीड़ उमड़ेगी। इस स्थिति को देखते हुए जिले के सिम्स, जिला अस्पताल मिलाकर कुल सात केंद्रों में कोवैक्सीन टीका लगाने का निर्णय लिया गया। परिणाम स्वरूप गुरुवार की सुबह से ही इन केंद्रों में भीड़ उमड़ गई। ऐसे में पहले आओ, पहले पाओ के आधार पर टीका लगाया गया।

इसके विपरीत कोविशील्ड टीके की पहली व दूसरी डोज लगवाने वालों को किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं हुई, क्योंकि कोविशील्ड के 50 हजार डोज का स्टाक रहा, ऐसे में जिले के सभी केंद्रों में टीकाकरण अभियान संचालित किया गया। बड़ी मात्रा में टीका उपलब्ध होने से एक बार फिर टीकाकरण ने रफ्तार पकड़ ली है।

हालांकि इन सब के बीच कोवैक्सीन का दूसरे डोज का टीका लगवाने वालों के लिए टीका कम पड़ रहा है। जिला टीकाकरण अधिकारी डा. मनोज सैमुअल ने जानकारी दी है कि जल्द से जल्द कोवैक्सीन की नई खेप भेजी जाएगी। दूसरी डोज वालों को घबराने की जरूरत नहीं है। जल्द ही उनके लिए व्यवस्था हो जाएगी।

पोर्टल में गलत एंटी से हो रही परेशानी

दूसरी डोज लगवाने पहुंच रहे दर्जनों लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है और दूसरी डोज से वंचित भी होना पड़ रहा है। हो यह रहा है कि कर्मचारी पहली डोज लगने के बाद जब कोविन पोर्टल में जानकारी अपलोड कर रहे है तो कई की जानकारी अपलोड करने में लिपिकीय गलती कर दी जा रही है। जिसे कोवैक्सीन लगी है उसे कोविशील्ड लगने की जानकारी भर दी जा रही है। ऐसे में दूसरी डोज लगवाने पहुंचने पर समस्या हो रही है। कर्मचारी भी ऐसे में हितग्राहियों को वैक्सीन लगाने से बच रहे हैं। इसकी वजह से रोजाना कई लोग टीकाकरण से वंचित हो रहे हैं।

Posted By: sandeep.yadav