Women Empowerment News: फास्ट फूड के अलावा मोमबत्ती और अगरबत्ती बनाना सीखेंगी बिलासपुर की महिलाएं

Updated: | Mon, 20 Sep 2021 11:41 PM (IST)

बिलासपुर। Women Empowerment News: केंद्र सरकार की अति महत्वाकांक्षी योजना में से एक ग्रामीण स्वरोजगार योजना से अब महिलाओं को जोड़ने और स्वरोजगार की दिशा में आगे कदम बढ़ाने काम शुरू हो गया है। कोनी प्रशिक्षण संस्थान में विशेषज्ञ प्रशिक्षकों द्वारा महिलाओं व युवतियों को उन कुटीर उद्योगों का प्रशिक्षण दिया जाएगा जिसके जरिए स्वावलंबी बनाकर एक उदाहरण पेश कर सकें।

भारतीय स्टेट बैंक स्वरोजगार प्रशिक्षण संस्थान में प्रथम चरण में महिलाओं को मोमबत्ती और अगरबत्ती बनाने के अलावा फास्ट फूड बनाना सिखाया जाएगा। स्व सहायता समूह की महिलाओं के अलावा गांव की पढ़ी लिखी युवतियों को इस अभियान से जोड़ने की योजना बनाई गई है। महिला सशक्तीकरण की दिशा में इसे बड़ा कदम माना जा रहा है। ग्रामीण स्वराज केंद्र कोनी में महिलाओं को स्वावलंबी बनाने योजना की शुरुआत हो रही है। भारतीय स्टेट बैंक स्वरोजगार प्रशिक्षण संस्थान कोनी में महिलाओं को फास्ट फूड के अलावा मोमबत्ती और अगरबत्ती बनाना सिखाएंगे।

इसके अलावा गोपालन की दिशा में भी महिलाओं को प्रेरित करेंगे। महिला स्व सहायता समूह व बीपीएल कार्डधारक महिला हितग्राहियों को प्रशिक्षित कर स्वरोज से जोड़ने की योजना बनाई है। प्रशिक्षण के लिए महिला एवं युवतियों को अपना मनरेगा जाबकार्ड, आधार कार्ड, राशन कार्ड ,बैंक पासबुक की छायाप्रति के अलावा शैक्षणिक योग्यता कम से कम आठवीं से 12 वीं पास होने की अंकसूची की छायाप्रति जमा करनी होगी। आयु सीमा 18 से 45 वर्ष तय की गई है।

उत्पाद की बिक्री के बाजार कराएंगे उपलब्ध

महिलाओं को प्रशिक्षित करने के बाद स्वयं के कुटीर उोग संचालित करने के लिए बैंक द्वारा केंद्र सरकार की योजना के तहत ऋण की सुविधा भी उपलब्ध कराई जाएगी। आर्थिक रूप से कमजोर महिलाओं के लिए यह योजना वरदान साबित होगी। कुटीर उोग संचालित होने और उत्पाद निर्मित होने की स्थिति में बैंक के साथ ही जिला प्रशासन द्वारा उत्पादों की बिक्री के लिए बाजार भी उपलब्ध कराया जाएगा।

Posted By: sandeep.yadav