HamburgerMenuButton

दंतेवाड़ा : जवान के बुजुर्ग माता-पिता को नक्सलियों ने छोड़ा, घबराए हुए हैं बुजुर्ग दंपति

Updated: | Wed, 08 Jul 2020 11:05 AM (IST)

दंतेवाड़ा। Dantewada Naxal Crime आरक्षक अजय तेलामी के बुजुर्ग माता पिता को नक्सलियों ने छोड़ दिया है। वे शाम करीब 7 बजे सुरक्षित घर लौट आए। सूत्रों के मुताबिक घर लौटने के बाद दोनों बुजुर्ग काफी घबराए हुए हैं। नक्सलियों उन्हें कहां ले गए थे, क्या पूछताछ की और किस शर्त पर छोड़ा, आदि का खुलासा नहीं हो पाया है। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि वे जब गुमियापाल पहुचे तो काफी घबराए हुए हैं। इसलिए अभी किसी तरह की पूछताछ नहीं की जा रही है।

गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले में तैनात डिस्ट्रिक्ट रिजर्व गार्ड (डीआरजी) के जवान अजय तेलाम के बुजुर्ग माता-पिता का नक्सलियों ने सोमवार की रात अपहरण कर लिया था। मंगलवार की शाम तक उनके बारे में कोई जानकारी नहीं मिल पाई थी। पुलिस की टीम और परिजन आसपास के संभावित पहाड़ी और जंगलों में उनकी तलाश कर रहे हैं। बताया जाता था कि पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण करने वाले को फिर से नक्सली बनाने का दबाव डालने के लिए ही अपहरण किया गया है।

जानकारी के मुताबिक किरंदुल थाना क्षेत्र के ग्राम गुमियापाल में आरक्षक अजय के घर सोमवार की रात नक्सली पहुंचे थे। उन्होंने उसके पिता लच्छू तेलाम से उसके बारे में पूछताछ करने के बाद मारपीट की। इसके बाद अपने साथ ले जाने लगे। विरोध करने पर जवान की मां को भी साथ ले गए।

अन्य परिजनों की हथियारबंद नक्सलियों के सामने एक ना चली। परिजनों ने रात में ही इसकी सूचना किरंदुल थाने की पुलिस और अजय को मोबाइल पर दे दी। मंगलवार सुबह पुलिस की टुकड़ियां बुजुर्गों की तलाश में आसपास के जंगल और पहाड़ी की ओर निकल पड़ीं। परिजन भी उनकी तलाश में जुटे गए, लेकिन उनका पता नहीं चला।

गौरतलब है कि अजय तेलाम भी पहले नक्सली संगठन से जुड़े थे। करीब साल भर पहले उन्होंने आत्मसमर्पण कर दिया था। उनके क्रियाकलापों को देखते हुए उन्हें डीआरजी में भर्ती किया गया है। वे इलाके से परिचित होने के साथ ही नक्सलियों को भी पहचानते हैं। वे इन दिनों भटके हुए युवाओं को नक्सल संगठन छोड़ने के लिए प्रेरित कर रहे हैं। बताया जा रहा है कि नक्सली अजय को संगठन में वापस बुला रहे हैं। दबाव बनाने के लिए ही उन्होंने उनके माता-पिता का अपहरण किया है।

कमांडर कमलेश ने किया था अपहरण : एसपी

एससी डॉ. अभिषेक पल्लव ने बताया कि नक्सली कमांडर कमलेश की अगुआई में गुमियापाल पहुंचे नक्सलियों ने अपहरण किया था। उसके साथ 31 नक्सली सदस्य भी थे, जिनकी पहचान हो चुकी है। पुलिस की टीम आरक्षक के माता-पिता की तलाश कर रही है। इलाके के लोग पुलिस के संपर्क में आकर नक्सलियों का साथ छोड़ रहे हैं, इसलिए नक्सली नेता बौखलाए हुए हैं।

Posted By: Sandeep Chourey
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.