HamburgerMenuButton

छत्तीसगढ़ में हत्या कर दहशत फैला रहे नक्सली, फोर्स मैदान में उतरी

Updated: | Tue, 08 Sep 2020 09:20 AM (IST)

अनिल मिश्रा, जगदलपुर। Jagdalpur News: बरसात में फोर्स का ऑपरेशन कम होते ही नक्सली एक बार फिर से दहशत फैलाने पर आमादा हो उठे हैं। हालांकि बीते एक सप्ताह में लगातार हुईं हत्याओं के बाद फोर्स ने उन्हें सबक सिखाने के लिए कमर कस ली है। डीजीपी डीएम अवस्थी ने बस्तर के पुलिस अफसरों की क्लास लेकर नए सिरे से रणनीति बनाने को कहा है। दो दिन में दंतेवाड़ा और बीजापुर जिलों में छह ग्रामीणों की हत्या के बाद नक्सल डीजी अशोक जुनेजा शनिवार को पहली बार बीजापुर पहुंचे और नक्सल विरोधी अभियान तेज करने की हिदायत दी।

दरअसल, छह महीने पहले ही नक्सल मोर्चे की कमान अशोक जुनेजा को सौंपी गई है। इससे पहले कि वे बस्तर आकर नक्सल मोर्चे पर तैनात बल से मुलाकात करते, कोरोना लॉकडाउन हो गया। स्थानीय स्तर पर बस्तर आइजी सुंदरराज पी. लगातार अंदरूनी इलाकों में गश्त कर जवानों की हौसला आफजाई करते रहे, पर चार्ज लेने के छह महीने तक नक्सल डीजी जुनेजा के बस्तर नहीं आने का असर दिखने लगा। नक्सलियों ने कोरोना लॉकडाउन का फायदा उठाकर पहले तो खुद को पुनर्संगठित किया, फिर जब बारिश में बाढ़ का कहर टूटा तो पहुंचविहीन अंदरूनी इलाकों में ग्रामीणों की हत्या करने लगे।

फोर्स ने बीते तीन सालों में नक्सलियों को काफी पीछे धकेल दिया है। ग्रामीण भी अब उनका साथ नहीं दे रहे हैं। आदिवासी सड़क, बिजली, स्कूल, अस्पताल की मांग करने लगे हैं और सरकार के साथ खड़े नजर आ रहे हैं। यह नक्सलियों के लिए खतरे की घंटी है। अब वे लोगों को मारकर एक बार फिर पैठ बनाने की कोशिश कर रहे हैं। वैसे फोर्स ने उनकी इस रणनीति को भांप लिया है और तेज व आक्रामक अभियान चलाने की तैयारी की जा रही है।

लगातार कर रहे हत्या

नक्सली बीते छह महीने से लगातार ग्रामीणों की हत्या कर रहे हैं। छह महीने पहले सुकमा जिले के चिंतलनार इलाके में दो युवकों की पीट-पीटकर हत्या की गई। आठ अप्रैल को सुकमा के ही फूलबगड़ी गांव में एक युवक की हत्या की। 15 जुलाई को कुकानार थाना क्षेत्र के पेंदलनार गांव में एक युवक की हत्या की। कुछ दिन पहले बीजापुर जिले के कुटरू में पुलिस के एएसआइ की हत्या की गई। तीन सितंबर दंतेवाड़ा के हिरोली इलाके में दो युवकों की हत्या कर दी। पांच सितंबर को उन्होंने बीजापुर के गंगालूर इलाके में चार ग्रामीणों को मौत के घाट उतार दिया। इन हत्याओं के बाद ग्रामीण सहमे हुए हैं। अब फोर्स लोगों का भरोसा दोबारा बहाल करने के लिए कमर कसकर मैदान में है।

मैंने सभी एसपी से बात की है और कानून व्यवस्था दुरुस्त करने की हिदायत दी है। नक्सल डीजी खुद बीजापुर गए थे। नए सिरे से रणनीति बनाकर नक्सलियों को उनकी मांद में खदेड़ा जाएगा।

- डीएम अवस्थी, डीजीपी, छत्तीसगढ़

Posted By: Nai Dunia News Network
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.