janjgir champa news: डायलिसिस यूनिट लगाने चार साल पहले बनी थी योजना अब तक शुरू

Updated: | Sat, 27 Nov 2021 10:52 AM (IST)

जांजगीर-चांपा janjgir champa news। जिला अस्पताल में डायलिसिस मशीन लगाने के लिए स्वास्थ्य विभाग के द्वारा चार साल पहले योजना बनाई गई थी लेकिन आज तक वह मूर्तरूप नहीं ले पाई है। इसके चलते मरीजों को इलाज के लिए दूसरे शहरों का चक्कर लगाना पड़ता है। जिला अस्पताल में डायलिसिस मशीन नहीं होने मरीजों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है। डायलिसिस के लिए मरीजों को या तो निजी अस्पताल या फिर कोरबा, बिलासपुर या रायपुर जाना पड़ता है। चार साल पहले जिले के किडनी संबंधी रोगियों की इलाज के लिए जिला अस्पताल में दो डायलिसिस मशीन लगाने की योजना बनाई गई थी।

इसके लिए शासन से 25 लाख रुपए की स्वीकृत मिल चुकी थी। जिला अस्पताल में मशीन आ जाने से मरीजों को यह सुविधा यहीं मिल जाती। जिला अस्पताल में अब तक डायलिसिस यूनिट शुरू नहीं होने से जिले के किडनी पेसेंट को परेशानियों का सामना करना पड़ता है। मरीजों को 50-60 किलोमीटर की सफर तय कर कोरबा या बिलासपुर जाकर डायलिसिस करना पड़ता है। कोरबा या बिलासपुर में भी मरीजों का दबाव अधिक होने से कई बार उन्हें बिना डायलिसिस के ही लौटना पड़ता है या फिर काफी लंबा इंतजार करना पड़ता है।

सबसे अधिक परेशानी उन मरीजों को होती है, जिन्हें डाक्टर हफ्ते में तीन से चार बार डायलिसिस के लिए सलाह देते है। इस समस्या को देखते हुए जिला अस्पताल प्रबंधन ने राज्य शासन से नई डायलिसिस मशीन की मांग की थी। जिला प्रशासन ने भी मरीजों की परेशानियों को देखते सीएमएचओ को यहां जल्द यह सुविधा शुरू करने के निर्देश दिए थे। तत्कालीन कलेक्टर डा. एस भारतीदासन ने भी जिला अस्पताल में जल्द से जल्द यह सुविधा शुरू करने के निर्देश दिए थे। जिला अस्पताल में डायलिसिस की सुविधा शुरू होने से यहां मरीजों का दबाव भी रहेगा।

जांजगीर-चांपा जिला काफी बड़ा है इसलिए यहां हर समय डायलिसिस के मरीज आते रहेंगे। जिला अस्पताल में दो मशीनों के आने के बाद एक और मशीन की जरूरत विशेष रूप से डायलिसिस और हेपेटाइटिस सी के मरीजों के लिए होगी। दिनोंदिन हेपेटाइटिस सी के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। ऐसे मरीजों की डायलिसिस के लिए अलग से मशीन की जरूरत होती है, लेकिन अभी ऐसी सुविधा बड़े शहरों में भी शुरू नहीं होने से उन्हें रायपुर या बड़ेे निजी अस्पताल में जाना पड़ता है।

वर्जन

जिला अस्पताल में किडनी के मरीजों को डायलिसिस की सुविधा के लिए मशीन लगाने की योजना के बारे में उन्हें जानकारी नहीं है। ऐसा है तो इसके लिए फिर से प्रयास किए जाएंगे।

-डा. एसआर बंजारे, सीएमएचओ जांजगीर चांपा

Posted By: Yogeshwar Sharma