कोरबा में कोयला चोरी का वीडियो वायरल होने के बाद सीआइएसएफ के जवान भांज रहे लाठी

एसईसीएल की खदानों की सुरक्षा के लिए सीआईएसएफ के अलावा त्रिपुरा राइफल्स के जवानों को भी तैनात किया गया है।

Updated: | Fri, 20 May 2022 12:27 PM (IST)

कोरबा। कोयला खदान से हजारों की संख्या में कोयला चोरी किए जाने का वीडियो वायरल होने के बाद खदान क्षेत्रों में तैनात केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआइएसएफ) के जवान भी हरकत में आ गए हैं।जवानों की एक टुकड़ी ने हरदी बाजार के पास ग्राम भठोरा में कोयला चोरों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा। इस घटना से चोरों के बीच अफरा-तफरी मच गई। सुरक्षा बल की इस कार्रवाई के दौरान आम लोग भी जवानों के निशाने पर आ गए। कई राहगीरों पर भी डंडे बरसाए गए, जिसकी वजह से किसी का सिर फूट गया तो किसी के हाथ में चोट आई। लोग डंडे की मार से बचने के लिए इधर-उधर भागते रहे। मार खाने वालों में भिलाई बाजार के सरपंच का बड़ा भाई भी शामिल है, जो एक शादी में शामिल होने के लिए बाहर जा रहा था। जवानों की कार्रवाई को देखकर रुका तो जवानों ने उस पर भी लाठियां बरसाई। ग्राम कोसमभांठा निवासी एक युवक भी सीएसएफ की लाठी से घायल हो गया है,उसके सिर में चोट आई है।

अधिकारी कर्मचारियों ने भी खोला मोर्चा, उठाया डंडा

उधर चोरी की घटनाओं से परेशान एसईसीएल की दीपका खदान में अधिकारी और कर्मचारियों ने मोर्चा संभाल लिया है। डीजल व कोयला चोर हथियार से लैस होकर खदान के अंदर बेधड़क घुसते हैं और चोरी की घटनाओं को अंजाम देते हैं। इससे निपटने के लिए अधिकारी कर्मचारियों ने अब डंडा उठा लिया है। ड्यूटी के दौरान संगठित होकर कर्मचारी चोरों को खदेड़ने में लगे हैं। बताया जा रहा है कि श्रमिक संगठन के प्रतिनिधि इसका नेतृत्व कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें

www.naidunia.com/chhattisgarh/korba-coal-being-stolen-from-korba-mine-shocking-video-goes-viral-7528101

सीआईएसफ व त्रिपुरा राइफल के जवान तैनात फिर भी घुस जाते हैं चोर

यह बताना होगा कि एसईसीएल की खदानों की सुरक्षा के लिए सीआईएसएफ के अलावा त्रिपुरा राइफल्स के जवानों को भी तैनात किया गया है। इसके बाद भी खदानों में चोरी की घटनाएं नहीं रुक रही है। दिनदहाड़े चोर पिकअप वाहन लेकर डीजल चोरी करने घुस जाते हैं। इन्हें रोकने का प्रयास करने वाले जवान व सुरक्षाकर्मियों पर हमला करने से भी नहीं चूकते। खदान क्षेत्र के थाना व पुलिस चौकियों में इस तरह की घटनाओं की शिकायतें की लंबी फेहरिस्त है।

Posted By: Yogeshwar Sharma
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.