जनहित में काम आएगा अभनपुर का बाड़ा: महंत

Updated: | Fri, 24 Sep 2021 08:45 AM (IST)

रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। श्री दूधाधारी मठ के पूर्वाचार्यों ने जनकल्याण को ध्यान में रखकर अभनपुर में बाड़ा का निर्माण कराया गया था। जर्जर होने के बाद अब इस बाड़ा जीर्णोद्धार होगा। गुरुवार को छत्तीसगढ़ राज्य गौ सेवा आयोग के अध्यक्ष राजेश्री महंत रामसुंदर दास महाराज जीर्णोद्धार का भूमि पूजन कार्यक्रम में शामिल हुए। इस अवसर पर राजेश्री महंत ने कहा कि बाड़ा में लोगों के सुख दुख के कार्य संपन्न होते आ रहे हैं।

समय के साथ-साथ यह काफी जर्जर हो चुका है। इसलिए अब इसके नव निर्माण की आवश्यकता है। मठ मंदिर के सभी ट्रस्टियों के सुझाव को ध्यान में रखकर भूमिपूजन किया। पुनर्निर्माण के बाद यह जनहित में काम आएगा। लोग इसका सदुपयोग अपने सामाजिक कार्यों के निस्तार में करेंगे।

इस अवसर पर मठ मंदिर के मुख्तियार रामछवि दास, रामेश्वर मिश्रा, उमेश पुरी गोस्वामी, श्री बालाजी मंदिर अभनपुर के पुजारी, टिकेंद्र ठाकुर, पुनीत साहू, मुरारी वैष्णव, रमेश दास वैष्णव, शरण साहू, लालजी बारले, पार्थ वैष्णव (पार्षद), मीडिया प्रभारी निर्मल दास वैष्णव सहित नगर के कई लोग उपस्थित रहे।

शहीदों को ब्राह्मण महिलाओं ने दिया तर्पण

सर्व ब्राह्मण समाज ने पितृ पक्ष तृतीया, गुरुवार को महादेव घाट में पितृ तर्पण किया। महिलाओं ने उन पूर्वजों का श्राद्ध किया गया, जिन्होंने देश के लिए अपनी जान कुर्बान कर दी। 1947 से लेकर देश भर में आतंकी और नक्सली हमलों में जितने अफसर, जवान शहीद हुए हैं, साथ ही कोरोना से दिवंगत वीरों के नाम से अनुष्ठान किए गए।

बता दें कि राजधानी में महिलाओं द्वारा श्राद्ध करने का यह तीसरा वर्ष है। गुरुवार सुबह समाज की सभी महिलाएं महादेव घाट में एकत्रित हुई। खारून नदी में शहीदों को जल अर्पण तर्पण किया। इस दौरान देश की आजादी से पहले शहीद हुए स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के नाम से भी विविध अनुष्ठान किए गए। सभी शहीद पितरों का आह्वान कर महिलाओं ने उन्हें चावल, तिल, गुड़, उड़द-दाल आदि का अर्पण किया।

कार्यक्रम में रत्ना शर्मा, कावेरी शर्मा, वीणा तिवारी, पुष्पा तिवारी, नीतीश शुक्ला, शिखा शर्मा, स्वरा मिश्रा, मनीषा मिश्रा, सुभाषिनी शुक्ला, शशि पांडे, ममता तिवारी, धनेश्वरी दुबे, सविता दुबे, कविता शर्मा, श्रीजन शर्मा, आराध्या शर्मा आदि मौजूद रहे।

Posted By: Shashank.bajpai