रायपुर में ध्वनि प्रदूषण रोकने के लिए जागा प्रशासन, कानफोड़ू डीजे बजाने वाले दस वाहन जब्त

Updated: | Fri, 03 Dec 2021 10:04 AM (IST)

रायपुर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। शहर में कानफोड़ू डीजे के कारण लोगों को हो रही परेशानी को ध्यान में रखकर अब जाकर निगम प्रशासन की नींद खुली है।कानफोड़ू आवाज से शहर को मुक्त करने निगम ने कमर कसा है।गुरूवार को शहर के विभिन्न स्थानों में जांच अभियान चलाकर डीजे की दस बड़ी गाड़ियों को जब्त करने के साथ ही मामले में मोटर व्हीकल एक्ट के तहत कार्रवाई करने आरटीओ को प्रकरण भेजा गया।

लोगों की शिकायत पर कार्रवाई

दरअसल राजधानी में शादी का सीजन शुरू होते ही जगह-जगह पर डीजे के कानफोड़ू आवाज से लोग हलकान हैं। खासकर बुर्जुग और बच्चों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। कलेक्टर सौरभ कुमार ,निगम आयुक्त प्रभात मलिक, एसएसपी प्रशांत अग्रवाल के निर्देश पर निगम मुख्यालय की नगर निवेश विभाग की उड़नदस्ता टीम ने विभिन्न जोनों में जांच अभियान चलाया।

अतिक्रमण रोधक अधिकारी आभाष मिश्रा के नेतृत्व में चलाए गए इस अभियान में आमापारा, खालबाड़ा, खम्हारडीह चौक समेत विभिन्न स्थानों से पुलिस बल की मौजूदगी में डीजे वाले करीब 10 बड़े वाहनों को जब्त कर लिया गया। अतिक्रमण रोधक अधिकारी आभाष मिश्रा ने बताया कि शासन के निर्देश पर ध्वनि प्रदूषण को कारगर तरीके से रोकने और मोटर व्हीकल एक्ट का व्यवहारिक पालन कराने को लेकर निगम अमला सख्त हुआ है। इसी कड़ी में यह कार्रवाई शुरू की गई है। निगम क्षेत्र में डीजे की सभी बड़ी गाड़ियों जब्त कर आगे की कार्रवाई करने प्रकरण को क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी कार्यालय में भेजा गया।

सड़क की पटरियों को घेरने वालों पर कार्रवाई नहीं

रायपुर के मुख्य सड़कों की पटरियों को घेरकर दुकान का सामान रखने वालों पर नगर निगम की कार्रवाई नहीं होने से लोगों को परेशानियों का सामान करना पड़ रहा है। पटरी पर कब्जे के पैदल चलने वालों को सड़क पर चलने से वाहनों के चपेट में आने का खतरा बना रहता है।

Posted By: Ravindra Thengdi