ध्रुवीकरण से भाजपा सत्ता में तो आ सकती है, लेकिन देश को होगा नुकसान : सीएम बघेल

मुख्यमंत्री ने भाजपा नेताओं को सीख दी कि वे महंगाई, कोयला संकट और ट्रेन बंद होने को लेकर आंदोलन करें।

Updated: | Wed, 18 May 2022 09:05 PM (IST)

रायपुर (राज्य ब्यूरो)। भेंट-मुलाकात कार्यक्रम में सुकमा रवाना होने से पहले मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भाजपा पर जमकर निशाना साधा। रायपुर हेलीपैड पर मीडिया से चर्चा में मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा लगातार अपने लाभ के लिए ध्रुवीकरण कर रही है। इससे वह सत्ता में तो आ सकती है, लेकिन देश को नुकसान होगा।

देश में हो रही हिंदू-मुस्लिम की राजनीति पर मुख्यमंत्री ने कहा कि देश में विभिन्न जातियों, बोली-भाषा के लोग रहते हैं। अलग-अलग संस्कृति और अलग-अलग धर्मों के लोग रहते हैं। यह सब लोगों का देश है। ऐसे में भाईचारा और प्रेम का संदेश देना चाहिए। आज सबसे अधिक जरूरी भारत माता की सेवा करना है।

मुख्यमंत्री बघेल ने कहा कि हिंदुस्तान में जितने लोग निवास कर रहे हैं, वही भारत माता हैं। इसी बात को विवेकानंद जी ने कहा था कि दरिद्र नारायण की सेवा करो। महात्मा गांधी ने इसको अपने जीवन में उतारा। चाहे वह किसान हो, बुनकर हो, मजदूर हो, उनकी वकालत उन्होंने की। आज देश को एकजुट करने की जरूरत है। भाजपा के जेल भरो आंदोलन पर मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा के लोगों ने छत्तीसगढ़ में काला कानून लागू हुआ, ऐसा बोलकर प्रदर्शन किया।

सरकार ने सिर्फ इतना कहा कि यदि कोई आंदोलन प्रदर्शन करे, तो अनुमति ले, क्योंकि आम जनता को इससे परेशानी होती है। उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश में भी यह नियम है। भाजपा नेताओं को वहां भी जाकर विरोध करना चाहिए। उन्होंने सवाल किया कि एक जगह कानून गलत है, तो दूसरे जगह सही कैसे हो सकता है। मुख्यमंत्री ने भाजपा नेताओं को सीख दी कि वे महंगाई, कोयला संकट और ट्रेन बंद होने को लेकर आंदोलन करें।

15 साल सत्ता में रहने के बाद भी नहीं समझे क्या चाहिए किसानों को

मुख्यमंत्री बघेल ने कहा कि छत्तीसगढ़ की अर्थव्यवस्था बहुत अच्छी है। 15 साल भाजपा सत्ता में थी, लेकिन किसानों-मजदूरों को क्या चाहिए, उनको कुछ समझ नहीं आया। आज हमारा अन्न्दाता प्रसन्न है। एक भी ऐसा किसान नहीं है, जिसे न्याय योजना के तहत पैसा नहीं मिला हो।

राज्यसभा में किसे भेजना है, यह सलाह ने दें भाजपा नेता

कांग्रेस के चिंतन शिविर पर पूर्व मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह के सवाल पर मुख्यमंत्री बघेल ने कहा कि उन्हें कांग्रेस के इतिहास के बारे में जानकारी नहीं है। वो अपनी चिंता करें। प्रदेश प्रभारी डी. पुरंदेश्वरी आती हैं, तो उनको वो पूछती तक नहीं हैं। इतनी उपेक्षा क्यों है, इसके बारे में पूछना चाहिए।

राज्यसभा में स्थानीय को भेजने के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा नेता कौन होते हैं तय करने वाले कि किसे राज्यसभा में भेजा जाएगा। वो अपनी पार्टी को सलाह दें। भाजपा नेता कभी छत्तीसगढ़ के हित में नहीं बोलते। प्रदेश की जनता के हित के बारे में उनको आवाज उठाना चाहिए।

कोयला निकालने के लिए बनी है नीति

हसदेव अरण्य पर मुख्यमंत्री ने कहा कि कोयला वहीं है, जहां पहाड़ और जंगल है। जंगलों को बचाने के लिए नीति बनी है। वन एवं पर्यावरण अधिनियम है, जिसके तहत गाइड होते हैं। उन नियमों का उल्लंघन नहीं होना चाहिए। वहां जो लोग प्रभावित हैं, उनको मुआवजा मिलना चाहिए। देश को कोयले की जरूरत तो है, कभी इतिहास में सुना था कि पैसेंजर ट्रेन बंद हुई। पहली बार हो रहा है कि ट्रेन बंद हो रही है।

Posted By: Ravindra Thengdi
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.