नईदुनिया अभियान : खुले मेें जला रहे पॉलीथिन युक्त कचरा, जिम्मेदारों ने आंखे फेरी

Updated: | Thu, 16 Sep 2021 02:02 PM (IST)

रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। शहर के 70 वार्डों से रोजाना 450 टन कचरा उठाया जाता है। यह कचरा घरों, दुकानों, माल, रेस्त्रां, होटलों से लेकर नाले-नालियों से निकलता है, जो सरोना ट्रेंचिंग ग्राउंड में डंप किया जाता है। अनुमान के तहत इसमें करीब 60 फीसद पालीथिन होती है। शहर के चौराहों में खुले में पालीथिन युक्त कचरा को जला दिया जाता है। निगम की उदासीनता के चलते पॉलीथिन को खुले में जलाने से लोग बाज नहीं आ रहे हैं।

बता दें कि बीते वर्षों में पर्यावरण संरक्षण मंडल के साथ मिलकर निगम ने प्रतिबंधित पॉलीथिन की जब्ती बनाई थी। प्लास्टिक को जब्त करके निगम मुख्यालय में डंप किया गया। बाद में इसे मुफ्त में सीमेंट कंपनी को देना पड़ा। अब सीमेंट फैक्ट्री को पॉलीथिन देने की योजना है। निगम को पूरा मटेरियल पहुंचाकर देना होगा। रायपुर निगम के ठेका कर्मी कचरा इकट्ठा तो कर लेते है परंतु इसके संधारण की कोई योजना अधिकारियों के पास नहीं है। इसके कारण ट्रेचिंग ग्राउंड स्थल पर कचरे का पहाड़ लग हुआ है।

यह है नियम

प्लास्टिक अपशिष्ट प्रबंधन के तहत प्लास्टिक कचरे को अलग-अलग श्रेणी में अलग करके उसका उचित प्रबंधन किया जाता है, जिसमें पुन: चक्रित प्लास्टिक को अलग करके उससे दूसरे उत्पाद बनाए जाते हैं। साथ ही परत वाले प्लास्टिक जो री-सायकल नहीं होता, उसे सीमेंट प्लांट में सभी मानकों के साथ जलाया जाता है, परंतु इसका पालन नहीं किया जा रहा है। निगम के अधिकारी भी इसकी मॉनिटरिंग नहीं करते। यह केवल कागजों पर ही सीमित रह गया।

जानकर भी बन गए अनजान

रायपुर शहर में बढ़ रहे पर्यावरण प्रदूषण से आम लोगों को जिस परेशानी का सामना करना पड़ रहा है,उससे न तो नगर निगम अनजान है और न ही अन्य संबंधित विभाग। प्रतिबंधित प्लास्टिक की सही जानकारी तक आम जनता को देना जरूरी नहीं समझा जाता है। छत्तीसगढ़ पर्यावरण मंडल की ओर से कई बार कलेक्टर, निगम आयुक्त को पत्र लिखकर बायोडिग्रेडेबल और कंपोस्टेबल के संबंध में जनता तक सही जानकारी देने को कहा गया है।

यहीं नहीं प्रतिबंधित नान वोवन पर कार्रवाई करने के भी आदेश दिए है, परंतु आश्चर्ययजनक है कि अभी तक सख्ती के साथ कोई कार्रवाई नहीं की गई। छत्तीसगढ़ पर्यावरण संरक्षण मंडल की जारी अधिसूचना में ऐसे प्रतिबंधित प्लास्टिक जो अल्प पीवीसी और क्लोरिन युक्त प्लास्टिक से बनी विज्ञापन, प्रचार सामग्री, खानपान के लिए प्लास्टिक थर्माकोल की वस्तुएं, कप, प्लेट, ग्लास, कटोरी चम्मच के विनिर्माण, भंडारण, आयात, परिवहन, उपयोग को प्रतिबंध किया गया है। फिर भी यह धड़ल्ले से शहर में बड़े पैमाने पर बनाए और खपाए जा रहे हैं।

एक्सपर्ट की राय

प्रतिबंधित प्लास्टिक को लेकर एक्सपर्ट अमित कुमार का कहना है कि प्लास्टिक के कचरे को जलाने से होने वाले प्रदूषण से आज कोई अनभिज्ञ नहीं है, लेकिन फिर भी खुले में कचरा जलाया जा रहा है, क्योंकि कचरे का सही निष्पादन नहीं हो रहा है।

राजधानी के 70 वार्ड में जिस तरह रोज 500 टन कचरा निकल रहा है? और उसे ले जाकर सरोना में डंप किया जा रहा है, वहां आसपास रहने वाले लोगों का कहना है कि बढ़ती बदबू और वायु प्रदूषण से वे काफी परेशान है। आज प्रतिबंधित प्लास्टिक के उत्पादन को रोकना सबसे ज्यादा आवश्यक है। उत्पादन बंद हो जाने से सारी समस्या का समाधान निश्चित है।

रायपुर के लोगों का यह है कहना

नईदुनिया की प्लास्टिक मुक्त रायपुर की मुहिम प्रशंसनीय है। लोगों को यह पता ही नहीं कि नान बायोडिग्रेडेबल क्या है और इस पर प्रतिबंध क्यों है? मैं सभी रायपुर वासियों से अनुरोध करती हूं कि बायोडिग्रेडेबल बैग का उपयोग करें।

- शशि मनोज कुमार शर्मा, रायपुर

शहर भर में प्लास्टिक की थैलियां खुलेआम बिक रही है। इस खतरनाक प्लास्टिक का निर्माण करने वालों पर जब तक सख्त कार्रवाई शुरू नहीं होगी, तब तक यह बाजार में बिकेगा। जिम्मेदारों को तत्काल एक्शन लेना चाहिए।

- सीपी श्रीवास्तव, रविनगर

- प्लास्टिक के बोतल, डिस्पोजल से प्रदूषण हो रहा है। इसकी वजह से होने वाली बीमारियों के लिए हम जिम्मेदार है। प्लास्टिक थैले का इस्तेमाल पूरी तरह से बंद करने से ही पर्यावरण को दूषित होने से बचाया जा सकता है।

- निशा सिंह, मोवा, पंडरी

- हमारे संस्थान ने पर्यावरण को स्वच्छ बनाए रखने की पहल की है। पिछले चार सालों से हम ग्राहकों को बायोडिग्रेडेबल कैरी बैग दे रहे हैं। इसका उपयोग हम सभी को करना है, तभी पर्यावरण को स्वच्छ रख पाएंगे।

- निशांत ग्रोवर, पार्टनर, क्रिमी एंड स्पाइसी बेकरी जीइ रोड

वर्जन

बाजारों में बिक रहे प्रतिबंधित प्लास्टिक के थैले पर सख्ती के साथ अभियान चलाकर कार्रवाई करने के लिए निगम की टीम गठित की जाएगी।

-प्रभात मलिक,कमिश्नर रायपुर नगर निगम

Posted By: Shashank.bajpai