Karva Chauth 2021: करवा चौथ पर्व का उल्लास छत्तीसगढ़ में छाया, घर-घर में विशेष उत्साह

Updated: | Sat, 23 Oct 2021 08:45 AM (IST)

रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। पति की लंबी आयु और अखंड सुहाग की कामना के लिए सुहागिनों में करवा चौथ का व्रत रखने की परंपरा सदियों से चली आ रही है। निर्जला व्रत रखकर सुहागिनें पूजा करके चांद देखने के बाद व्रत का पारण करती हैं। उत्तर भारत के पंजाब, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, उत्तर प्रदेश का यह पर्व अब देशभर में मनाया जाने लगा है। इस पर्व को लेकर राजधानी समेत प्रदेश के अन्य शहरों में भी विशेष उत्साह छाया है।

माता-पिता अपने दो बेटों-बहुओं के साथ सालों से मना रहे

अवंति विहार निवासी व्यवसायी 70 वर्षीय सतिंदर कोहली एवं 68 वर्षीय मंजू कोहली ने बताया कि उनका विवाह 1979 में हुआ था। तबसे लेकर हर साल वे करवा चौथ पर कहीं भी हों, एक-दूसरे के साथ ही रहते हैं। पहले अपने माता-पिता के सानिध्य में करवा चौथ की पूजा करते थे। इसके बाद 1995 में जब शाहरुख खान-काजोल की फिल्म दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे सिनेमाघर में लगी, इसके बाद हर घर में नए शादीशुदा जोड़े उत्साह से करवा चौथ पर्व मनाने लगे।

हमारे परिवार में बड़े बेटे 38 वर्षीय गुंजन कोहली एवं राशि कोहली का विवाह 2006 में हुआ तथा 34 वर्षीय छोटे बेटे दीपक कोहली और आशिमा कोहली का विवाह 2010 में हुआ। 15 साल से बड़े बेटे-बहू के साथ और 11 साल से छोटे बेटे-बहू के साथ परिवार में करवा चौथ की धूम मचती है।

पूजा के समय साथ रहते हैं, दो बेटा-बहू और सास-ससुर

राजा तालाब निवासी 75 वर्षीय तीरथ बग्गा एवं 70 वर्षीय संतोष बग्गा 50 साल से करवाचाैथ पर साथ-साथ ही पूजा करते हैं। चाहे कितना भी जरूरी काम हो, वे पूजा के समय घर आ जाते थे। अब पिछले 22-23 साल से अपने दोनाें बेटे-बहू के साथ ही करवा चौथ को सेलिब्रेट कर रहे हैं। बड़े बेटे 48 वर्षीय राजीव बग्गा एवं बहू राशि बग्गा तथा छोटे बेटे 46 वर्षीय प्रतीक बग्गा तथा सोनाली बग्गा के साथ पूरे परिवार में पूजा के दौरान उत्साह छाया रहता है।

परंपराओं में कोई बदलाव नहीं आया है। जब तक चांद नहीं दिखता महिलाएं निर्जला व्रत रखती हैं। जब वे हमारी खुशहाली के लिए व्रत करती हैं तो हमारा फर्ज होता है कि हम पूजा के समय उनके पास रहें।

पंजाब केसरी भवन में सामूहिक करवा चौथ पूजन

छत्तीसगढ़ पंजाबी सनातन सभा के प्रवक्ता जवाहर खन्ना ने बताया कि रविवार 24 अक्टूबर को पंजाब केसरी भवन जोरा में सामूहिक करवा चौथ पूजन का आयोजन किया गया है। महिलाएं पूरे दिन निर्जला उपवास कर अपने पति की अच्छे स्वास्थ्य एवं दीर्घायु होने की प्रार्थना कर शाम को करवा माता की पूजा करके चांद देख कर उपवास तोड़ेंगी। महिला सभा की अध्यक्ष अर्चना डागर एवं सचिव मीनू छंगा ने बताया कि महिलाओं के लिए विशेष सेल्फी जोन बनाया जा रहा है।

Posted By: Shashank.bajpai