Chhattisgarh BJP Politics: छत्तीसगढ़ बना अपराधगढ़, यह बताने राहुल के पास कब जाएगी कांग्रेस विधायकों की बरात : डा. रमन

Updated: | Thu, 16 Sep 2021 08:13 PM (IST)

Chhattisgarh BJP Politics: रायपुर। राज्य ब्यूरो, नेशनल क्राइम रिकार्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) के ताजा आंकड़ों में प्रदेश में बढ़े अपराध पर भाजपा ने राज्य सरकार को घेरा है। पूर्व मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह ने वीडियो जारी करके कहा कि छत्तीसगढ़ अपराधगढ़ बन गया है। कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी को यह बताने के लिए विधायकों की बरात दिल्ली कब जाएगी।

डा. रमन ने कहा कि हत्या, डकैती, दुष्कर्म जैसी वारदातों में छत्तीसगढ़ ने बिहार और मध्य प्रदेश को पीछे छोड़ दिया है। उन्होंने कहा कि यह रिपोर्ट सिर्फ एक साल की है, जबकि प्रदेश की कमान जब से कांग्रेस के हाथ गई है अपराध का ग्राफ बढ़ा है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने छत्तीसगढ़ को जंगलराज बना रखा है। छत्तीसगढ़ अपहरण में सातवें, बच्चों के साथ अपराध में तीसरे और आत्महत्या के मामलों में दूसरे स्थान पर है।

डा. सिंह ने कहा कि एनसीआरबी की रिपोर्ट के अनुसार छत्तीसगढ़ में हत्या की दर 3.3 फीसद है, जबकि बिहार में 2.6 फीसद है। वहीं, दुष्कर्म के मामले में बिहार, गुजरात और मध्य प्रदेश से छत्तीसगढ़ आगे है। 30 जून तक सामूहिक हत्याओं के 21 और आत्महत्या के तीन हजार 930 मामले सामने आए हैं। प्रदेश के गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू ने विधानसभा में बताया था कि एक दिसंबर 2018 से 30 जून 2021 तक सामूहिक हत्या के 94 मामले दर्ज किए गए हैं, जबकि आत्महत्या के 19 हजार 84, मानव तस्करी के 111 और साइबर ठगी के 786 मामले दर्ज हुए हैं।

चालू वर्ष में दुष्कर्म के 10 हजार 829, सामूहिक दुष्कर्म के 150, अपहरण के दो हजार 599, चाकूबाजी के एक हजार 047, नाबालिगों के गुम होने के छह हजार 125 मामले दर्ज हुए हैं। डा. सिंह ने सवाल किया कि आखिर शांति का टापू कहा जाने वाला छत्तीसगढ़ आज अपराधगढ़ क्यों बन गया है?

केरल जैसे ही छत्तीसगढ़ में भी नारकोटिक्स जेहाद: मूणत

पूर्व मंत्री और भाजपा प्रवक्ता राजेश मूणत ने कहा कि केरल जैसे ही छत्तीसगढ़ में भी नारकोटिक्स जेहाद हो रहा है। केरल में बढ़ती नशाखोरी को लेकर बिशप ने कहा था कि केरल में नारकोटिक्स जेहाद चल रहा है। मूणत ने कहा कि राहुल गांधी के संसदीय क्षेत्र वाला प्रदेश केरल है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को नशे के कारोबार को रोकने के लिए ठोस पहल करनी चाहिए। मुख्यमंत्री ने जो निर्णय आज लिया है, उसे पहले लेने की जरूरत थी।

Posted By: Kadir Khan