Chhattisgarh Health Secretary: छत्‍तीसगढ़ के डा. भीमराव आंबेडकर अस्पताल में अव्यवस्था देख बिफरे स्वास्थ्य सचिव

Updated: | Mon, 20 Sep 2021 11:05 PM (IST)

Chhattisgarh Health Secretary: रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि) । छत्‍तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में डा. भीमराव आंबेडकर अस्पताल में सोमवार को स्वास्थ्य सचिव डा. आलोक शुक्ला ने औचक निरीक्षण किया। इस दौरान स्त्री रोग विभाग में बिखरे कचरे को देखते अधिकारियों की जमकर क्लास ली। उन्होंने अस्पताल की व्यवस्थाओं, मरीजों को दी जा रही स्वास्थ्य सुविधाओं को दुरुस्त करने के साथ ही चल रहे विभिन्ना निर्माण कार्यों को समय-सीमा के अंदर पूरा करने के लिए आवश्यक निर्देश दिए।

डा. आलोक ने अस्पताल के प्रभारी चिकित्सा अधीक्षक डा. ओंकार खंडवाल से कहा कि अस्पताल में भर्ती समस्त मरीजों को अंत: रोगी पंजीयन (आइपीडी) की सुविधा भर्ती वार्ड के अंदर ही मिले। डा. खूबचंद स्वास्थ्य सहायता योजना के अंतर्गत बीमारी से संबंधित पैकेज वार्ड के अंदर ही ब्लाक हो। ताकि अधिक से अधिक मरीजों को स्वास्थ्य सहायता योजना के अंतर्गत उपचार सुविधा का लाभ प्राप्त हो सके। इधर स्वास्थ्य सचिव ने जिला अस्पताल, राजातालाब स्थित स्वास्थ्य केंद्रों का भी निरीक्षण कर इलाज की व्यवस्था दुरुस्त करने की बात कही।

आंबेडकर अस्पताल में निरीक्षण के दौरान मौके पर राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन छत्तीसगढ़ की संचालक डा. प्रियंका शुक्ला, संचालक चिकित्सा शिक्षा व अधिष्ठाता चिकित्सा महाविद्यालय डा. विष्णु दत्त, आंबेडकर अस्पताल के प्रभारी चिकित्सा अधीक्षक डा. ओंकार खंडवाल, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी रायपुर डा. मीरा बघेल, सीजीएमएससी के प्रबंध संचालक कार्तिकेय गोयल, सहायक अधीक्षक डा. ए वसीम तथा स्त्री एवं प्रसूति रोग विभागाध्यक्ष डा. ज्योति जायसवाल व अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

ओपीडी से गायब हो रहे डाक्टर

इधर अस्पताल से लगातार शिकायत मिल रही है कि अस्पताल की ओपीडी में चिकित्सक लगातार गायब मिल रहे हैं। वहीं अधिकाशं डाक्टर प्राइवेट क्लीनिक में अधिक समय दे रहे। इसके चलते अस्पताल में उनकी सेवाएं प्रभावित हो रही है। इस स्थिति में इलाज के लिए आने वाले मरीजों को भटकना पड़ रहा है। इसे लेकर स्वास्थ्य सचिव ने पहले कड़े निर्देश दिए थे। लेकिन व्यवस्थाएं अब भी दुरुस्त नहीं हुई है।

Posted By: Kadir Khan