शहर के सभी मार्गों पर सटी बस संचालित करने की कांग्रेसियों ने कलेक्टर से की मांग

Updated: | Sat, 27 Nov 2021 04:41 PM (IST)

रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। भाठागांव में नया बस टर्मिनल चालू होने के बाद से शहर के दूरदराज के यात्रियों को बस पकड़ने के लिए काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। कांग्रेस के रायपुर जिला ग्रामीण अध्यक्ष उधोराम वर्मा के नेतृत्व में शुक्रवार को कलेक्टर सौरभ कुमार से कांग्रेस का एक प्रतिनिधि मंडल मिला। कांग्रेसियों ने मांग की कि यात्रियों को किसी तरह की असुविधा न हो, इसे ध्यान में रखकर शहर के सभी रूटों पर सिटी बसों का संचालन जल्द से जल्द शुरू कराया जाए।

कांग्रेसजनों ने शुक्रवार को कलेक्टर सौरभ कुमार को सौंपे गए ज्ञापन में कहा है कि शहर के बीच स्थित पंडरी से यात्री बसों की शिफ्टिंग भाठागांव नए बस टर्मिनल में होने के बाद से शहर की यातायात व्यवस्था में काफी सुधार हुआ है। यह सरकार की एक अच्छी पहल है। एक हजार से अधिक बसों का परिचालन अब नए बस स्टैंड से होने लगा है। इसके साथ ही कुछ असुविधा कुछ यात्रियों को हो रही है। बिलासपुर से रायपुर रोड पर चलने वाली बस अब बस स्टैंड रायपुर तक नही जा रही है, बल्कि भनपुरी में ही यात्रियों को छोड़ रहे हैं, जबकि शहर तक जाने के लिए एकमात्र साधन आटो या निजी वाहन है।

विवश होकर यात्री अधिक किराया देकर शहर में आने को विवश हैं। ऐसी ही व्यवस्था बलौदाबाजार से रायपुर आने वाली यात्री बसों की है। ये बसें विधानसभा के पास रुक जा रही हैं और वहीं यात्रियों को उतार दिया जाता है। वहां से शहर तक पहुंचने के लिए यात्रियों को अन्य वाहन से आना पड़ रहा है। इससे यात्रियों को अधिक किराया देने के साथ समय भी ज्यादा लग रहा है। इस व्यवस्था को सुगम बनाने की जरूरत है, ताकि यात्रियों को सुविधा मिल सके।

कांग्रेसियों ने कहा कि कोरोना काल से पहले शहर भर में सिटी बस चलती थी पर वर्तमान में ये सभी बंद है। सिटी बसों का पुन: आवागमन चालू हुआ है लेकिन डीजल के दाम में बढ़ोतरी के कारण किराए में वृद्धि और अन्य कारणों से बसों का परिचालन नही हो पा रहा है।कलेक्टर ने इस संबंध में प्रस्ताव बनाकर मंत्रालय भेजे जाने की जानकारी दी और कहा कि जल्द से जल्द इस पर फैसला ले लिया जायेगा। कलेक्टर से मिलने वालों में रायपुर जिला ग्रामीण कांग्रेस अध्यक्ष उधो राम वर्मा, जनपद अध्यक्ष उत्तरा कमल भारती, जिला कांग्रेस ग्रामीण महामंत्री कमल भारती, रंजीत गायकवाड़ शामिल थे।

Posted By: Ravindra Thengdi