एनआईटी में डाटा सेंटर शुरू, जानिए कैसे होगा फायदेमंद

Updated: | Thu, 16 Sep 2021 02:30 PM (IST)

रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। एनआईटी रायपुर के डाटा सेंटर का उद्घाटन संस्थान के निदेशक डॉ. एएम रावाणी ने किया। इस अवसर पर, माननीय निदेशक ने दो डाटा सेंटर सेवाएं - वीडियो लाइब्रेरी और विभागीय डाटा स्टोरेज संस्थान को समर्पित की। इन सेवाओं को संस्थान के संकाय और कर्मचारियों के सदस्यों के लिए डॉ. बी आचार्य, प्रमुख केंद्रीय कंप्यूटर केंद्र और सुनील पांडे, वरिष्ठ तकनीकी अधिकारी (आईटी) द्वारा पेश किया गया। इस अवसर पर डीन, विभागाध्यक्ष, संकाय सदस्य, स्टाफ सदस्य और संस्थान के अन्य सदस्य उपस्थित रहे। उद्घाटन समारोह के दौरान कोविड प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन किया गया।

डेटा सेंटर एक विशेष रूप से डिजाइन की गई सुविधा है जो एक संगठन की बैक-एंड सूचना और संचार प्रौद्योगिकी (आईसीटी) सिस्टम, सर्वर, डेटाबेस आदि का संचालन करता है। डेटा सेंटर की स्थापना एनआईटी रायपुर में की गई है और इसे सर्वर, स्टोरेज और नेटवर्किंग उपकरण के लिए सर्वोत्तम संभव वातावरण प्रदान करने के लिए डिजाइन किया गया है।

इसमें सर्वर और नेटवर्क रैक सहित आईसीटी उपकरण रैक हैं। इसके अलावा पावर बैकअप के लिए यूपीएस, जनरेटर आदि की भी व्यवस्था की गई है। डेटा सेंटर कूलिंग को हरित और टिकाऊ तकनीक पर आधारित उच्च दक्षता वाले डेटा सेंटर कूलिंग सिस्टम के माध्यम से प्रावधान किया गया है। इसके अलावा डेटा सेंटर में सुरक्षा का विशेष रूप से ध्यान रखा गया है, जिसके लिये एक्सेस कंट्रोल सिस्टम, अग्निशमन प्रणाली, सीसीटीवी आदि का प्रबंध किया गया है।

डेटा सेंटर को चौबीसों घंटे काम करने के लिए डिजाइन किया गया है और यह एनआईटी रायपुर के लगभग 7000 के यूजर बेस के लिए कई उपयोगी एप्लीकेशन को चलाने वाले आईसीटी उपकरणों के लिए एक सुरक्षित स्थान प्रदान करता है। डेटा सेंटर बिग डेटा एनालिटिक्स, क्लाउड डेवलपमेंट, आईओटी, मशीन लर्निंग और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस जैसे क्षेत्रों में शिक्षण और अनुसंधान गतिविधियों का समर्थन करेगा। इस तरह की सुविधा महामारी के दौर में विशेष रूप से महत्वपूर्ण है, जहां ऑनलाइन शिक्षा, वर्चुअल लैब आदि पर निर्भरता है।

Posted By: Shashank.bajpai