HamburgerMenuButton

Education News: कोरोना संकट काल में शिक्षा की जारी रखी रोशनी, अब मिलेगी पहचान

Updated: | Fri, 16 Apr 2021 11:43 AM (IST)

रायपुर। Education News: छत्तीसगढ़ में पढ़ई तुंहर दुआर कार्यक्रम को सफलतापूर्वक संचालित होते एक वर्ष पूर्ण हो चुका है। एक वर्ष में इस महत्वाकांक्षी कार्यक्रम ने बहुत सारी उपलब्धियां प्राप्त की। बच्चों के अध्यापन से लेकर शिक्षकों के एकजुट होकर किए जा रहे कार्य एवं नवाचारों को खोजने के लिए हमारे नायक कॉलम के माध्यम से जो प्रक्रिया का प्रारंभ किया गया था ,आज उसकी बदौलत सैकड़ों उत्कृष्ट शिक्षकों के नाम सामने आ चुके हैं।

स्कूली बच्चों के लिए लगातार ऑनलाइन तथा ऑफलाइन कक्षाओं के संचालन हो रहे हैं। वर्तमान में 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं की समय सारणी जारी हो चुकी है, परंतु आपातकालीन विद्यालयों का संचालन फिर से स्थगित हो जाने के कारण परीक्षाओं को आगामी आदेश तक रोका गया है। फिर भी हमारे शिक्षक बच्चों को सीखने-सिखाने में जुटे हुए हैं।

राज्य भर में फिर से लॉकडाउन लग गया है, परंतु शिक्षकों के मार्गदर्शी स्वभाव तथा उनकी उपलब्धियों को लगातार हमारे नायक में स्थान दिया जा रहा है। इसका पूरा श्रेय शिक्षा सचिव डॉ. आलोक शुक्ला, समग्र शिक्षा के सहायक संचालक डॉ. एम. सुधीश एवं राज्य साक्षरता मिशन के सहायक संचालक व पढ़ई तुंहर दुआर के राज्य मीडिया प्रभारी प्रशांत पाण्डेय को जाता है।

दिन-प्रतिदिन शिक्षकों एवं विभाग में हमारे नायक की बढ़ती लोकप्रियता ने शिक्षकों को नए-नए नवाचार और गतिविधियों के माध्यम से बच्चों को पढ़ाई से जोड़े रखने हेतु प्रोत्साहित किया है। वर्तमान में हमारे नायक के 11वें चरण में दिव्यांग बच्चों को शिक्षा की मुख्यधारा से जोड़ने वाले बीआरपी (समावेशी शिक्षा) और प्रिंटरिच वातावरण निर्माण के तहत् हर गांव- प्रिंटरिच गांव, हर वार्ड - प्रिंटरिच वार्ड की थीम पर उत्कृष्ट कार्य करने वाले शिक्षकों का चयन नायक के रूप में किया जा रहा है।

राज्य भर के बहुत सारे शिक्षकों ने अपने स्कूल क्षेत्र के गांव और वार्ड में प्रिंटरिच वातावरण तैयार किया है। जिसका उद्देश्य अपने गांव के परिवेश में ही बच्चों को सीखने सिखाने के लिए विद्यालय जैसा वातावरण निर्मित करना है। इसके माध्यम से बच्चे सीखने के लिए अपने पढ़े-लिखे माता-पिता के साथ गांव के अन्य लोगों की मदद ले सकते हैं।

इसी कड़ी में 16 अप्रैल 2021 से शुरू होने वाले हमारे नायक के आगामी 12वें चरण के लिए राज्य भर से अंगना म शिक्षा और सहायक शिक्षण सामग्री के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले शिक्षकों के नाम गूगल फार्म के माध्यम से आमंत्रित किये जा रहे हैं। पहले थीम में सहायक शिक्षण सामग्री के अंतर्गत शिक्षकों के यूनिक आईडिया का चयन किया जायेगा, जिसके माध्यम से शिक्षकों द्वारा कोरोना काल में बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान कर रहे हैं।

जबकि दूसरे थीम में प्रदेश की स्व प्रेरित महिला शिक्षिकाओं द्वारा शुरू किए गए अंगना म शिक्षा कार्यक्रम के अंतर्गत उत्कृष्ट कार्य करने वाली शिक्षिकाओं का चयन किया जाएगा। हमारे नायक के 12वें चरण में चयन हेतु निर्धारित इन दोनों थीम के लिए राज्य परियोजना कार्यालय समग्र शिक्षा छत्तीसगढ़ द्वारा गूगल फार्म जारी किया गया है, जिसमें अभी तक पूरे राज्य से पिछले 24 घंटे के अंदर 200 से अधिक शिक्षकों ने अपना पंजीयन किया है।

हमारे नायक के राज्य प्रभारी गौतम शर्मा का कहना है कि प्रदेश के सभी शिक्षकों से अपील की गई कि इन दोनों क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य करने वाले शिक्षक जल्द से जल्द गूगल फार्म में अपनी जानकारी सबमिट करें।

Posted By: Azmat Ali
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.