रायपुर में केवाइसी अपडेट करवाने के नाम पर ठगी, फोन-पे से कार्ड स्केन करवा निकाल लिए लाखों

कबीर नगर थाने का मामला, पुलिस की तत्परता से दो लाख होल्ड, 24 घंटे के अंदर आने वाली शिकायत में सफलता, 155260 करें तत्काल शिकायत

Updated: | Thu, 07 Jul 2022 11:02 PM (IST)

रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। कबीर नगर थाना क्षेत्र में एक महिला से लगभग तीन लाख की आनलाइन ठगी हो गई। समय पर शिकायत करने पर पुलिस ने तत्काल साइबर सेल की मदद से दो लाख रुपये होल्ड करवा दिए। 95 हजार रुपये ठग ने दूसरे खाते में ट्रांसफर कर दिए थे।

ठग ने महिला को फोन-पे केवाइसी अपडेट करवाने के नाम पर झांसे में लिया और एटीएम कार्ड स्केन करवाकर दो खाते से दो लाख 95 हजार रुपये पार कर दिए। पुलिस ने अज्ञात आरोपित के खिलाफ धोखाधड़ी का अपराध दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

कबीर थाना प्रभारी राजेश सिंह ने बताया कि अविनाश प्राइड निवासी उमा मित्रा ने ठगी की रिपोर्ट दर्ज कराई है। वह गृहिणी हैं। चार जुलाई को उनके नंबर पर अज्ञात कालर ने फोन किया। फोन धारक ने महिला को कहा कि उसने फोन-पे की केवाइसी उपडेट नहीं हुई है। कल से अकाउंट से 22 सौ रुपये कट जाएगा।

पैसे न कटे इसके लिए कहा कुछ प्रक्रिया है उसे पूरा करते ही केवाइसी अपडेट हो जाएगी। अज्ञात फोन धारक ने प्रार्थिया को केवाइसी वेरिफिकेशन के मैसेज की जानकारी पूछी। महिला के पास कोई मैसेज नहीं आया। इसके बाद उसके ठन ने एटीएम कार्ड को फोन-पे स्केनर से स्केन करने कहा। प्रार्थिया ने अपना एटीएम कार्ड स्कैन किया। स्कैन करते ही प्रार्थिया के स्टेट बैंक अकाउंट से पैसे कट गए।

पैसे लौटाने एनीडेस्क डाउनलोड करवाया

प्रार्थिया ने पैसे कटने की जानकारी फोन धारक से कही। इस पर उसने झांसे में लिया और कहा कि तकनीकि खराबी की वजह से पैसे कट गए हैं। पैसे वापस पाने के लिए एनी डेस्क एप डाउनलोड करने कहा। महिला ने जैसे ही एनी डेस्क डाउनलोड किया दूसरे बैंक अकाउंट जो कि फोन-पे में जुड़ा था, उससे भी पैसे कट गए।

24 घंटे के भीतर करें शिकायत

अगर कोई ठगी का शिकार होने के बाद 24 घंटे के भीतर यदि शिकायत दर्ज करवाते हैं तो पैसे होल्ड करने में सहायता मिल जाती है। शिकायत मिलते ही पुलिस अधिकारी, सीधे बैंक से संपर्क कर जिस खाते में पैसे ट्रांसफर होते हैं, उसे होल्ड करवा देते हैं। अगर कोई भी ठगी का शिकार होता है तो वह तत्काल 155260 पर शिकायत करे। इसके अलावा नजदीकी थाने में सूचना दे।

Posted By: Pramod Sahu
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.