HamburgerMenuButton

Hitech Medical Service In Chhattisgarh: संक्रमण के दौर में छत्तीसगढ़ में हाइटेक हुई स्वास्थ्य सेवा

Updated: | Sat, 08 May 2021 12:08 PM (IST)

रायपुर, राज्य ब्यूरो। Hitech Medical Service In Chhattisgarh: कोरोना संक्रमण की वजह से हर कोई डरा-सहमा है। सर्दी या हल्का बुखार महसूस होते ही लोगों को भय होने लगा है। इन सबके बीच कोरोना को लेकर इंटरनेट मीडिया में चल रही भ्रामक जानकारियां लोगों के मन में कई सवाल खड़े कर रही है।

वहीं, कोरोना का डर ऐसा है कि सामान्य मरीज भी अस्पताल जाने से डर रहे हैं। ऐसे समय में छत्तीसगढ़ में स्वास्थ्य विभाग की हाईटेक सेवाएं मददगार साबित हो रही है। आरोग्य सेवा हेल्प लाइन नंबर 104 पर काल करते ही बीमारी से लेकर तमाम शंका और आशंकाओं का समाधान हो रहा है।

सामान्य मरीजों की मदद के लिए वर्चुअल ओपीडी शुरू की गई है। वहीं, राज्य के विभिन्न जिलों के डेडिकेटेड कोविड अस्पतालों को आनलाइन आंबेडकर अस्पताल से जोड़ा गया है। मौजूदा परिस्थितियों में 104 आरोग्य सेवा हेल्प लाइन नंबर बहुत मददगार साबित हो रही है।

मरीजों या उनके स्वजनों की कोरोना से संबंधी परेशानियों का हल तत्काल किया जा रहा है। इसके लिए काल सेंटर के आपरेटरों को विशेष प्रशिक्षण भी दिया जा रहा है। उन्हें अस्पताल आवंटन कोविड केयर सेंटर व डेडिकेटेड कोविड अस्पताल प्रबंधन और कोरोना को लेकर सामान्य रूप से पूछे जाने वाले सवालों के जवाबों के संबंध में विशेष रूप से प्रशिक्षत किया गया है।

स्वास्थ्य विभाग के अफसरों ने बताया कि अप्रैल में 104 काल सेंटर में एक लाख 16 हजार से अधिक काल रिसीव किए गए। इस दौरान होम आइसोलेशन, कोविड फीड बैक और अन्य शिकायतों के निराकरण संबंधी काल मरीजों व उनके स्वजनों को किए गए। मई के पहले सप्ताह में 18 हजार दो सौ से अधिक काल रिसीव किए गए और सेंटर से मरीजों को काल किए गए। मार्च 2020 से अप्रैल 2021 तक चार लाख 28 हजार से अधिक काल रिसीव किए गए थे।

हर कोरोना मरीज का रायपुर से आब्जर्वेशन

छत्तीसगढ़ में कुल 37 डेडिकेटेड कोविड केयर सेंटर बनाए गए हैं। ये सभी सेंटर राजधानी स्थित डा. भीमराव आंबेडकर अस्पताल से इंटरनेट के माध्यम से सीधे जुड़े हुए हैं। इसके लिए यहां आंबेडकर अस्पताल में विशेष टेली कंसल्टेशन हब बनाया गया है। इसके माध्यम से विभिन्ना कोविड केयर सेंटरों में काम कर रहे डाक्टर और पैरामेडिकल स्टाफ सीधे यहां विशेषज्ञ डाक्टरों की राय और मदद ले सकते हैं। इतना ही नहीं गंभीर मरीजों की स्थिति पर विशेषज्ञ डाक्टर यहीं से नजर रख रहे हैं।

वर्चुअल टेली ओपीडी में विशेषज्ञ डाक्टरों से सीधा संवाद

कोरोना संक्रमण के इस दौर में घर बैठे विशेषज्ञ डाक्टरों से सीधा संवाद कर उनके सलाह देने के लिए चार दिन पहले राजधानी स्थित डा. भीमराव अंबेडकर अस्तपाल में वर्चुअल टेली ओपीडी सेवा शुरू की गई है। इस निश्शुल्क वर्चुअल ओपीडी में स्मार्टफोन व इंटरनेट के माध्यम से प्रतिदिन अवकाश दिवस को छोड़कर सुबह 10:30 से 11:30 बजे तक आनलाइन जुड़कर डाक्टरों से अपनी बीमारी के संबंध में बात की जा सकती है।

जानिए मंत्री टीएस सिंहदेव ने क्‍या कहा...

हमारी कोशिश है कि संकट के इस दौर में जिनती ज्यादा हो सके लोगों को स्वास्थ्य सुविधा और सेवा उपलब्ध कराएं। इसी के तहत यह सब प्रयास किए जा रहे हैं। जल्द ही एक नया वेबसाइट शुरू करने की तैयारी है। इसके लिए डोमेन का रजिस्ट्रेशन हो गया है। इस वेबसाइट पर कोरोना के संक्रमण से लड़ने के लिए जितनी भी स्वास्थ्य सुविधाएं जैसे बेड, आक्सीजन व दवा आदि है उसकी जानकारी आम लोगों को उपलब्ध कराई जाएगी। दवा और मेडिकल उपकरण खरीदी आदि भी जानकारी उपलब्ध कराने की योजना है। इससे न केवल लोगों को सुविधा मिलेगी, बल्कि कामकाज में पारदर्शिता भी आएगी।

- टीएस सिंहदेव, स्वास्थ्य मंत्री, छत्तीसगढ़

Posted By: Azmat Ali
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.