HamburgerMenuButton

Illegal Timber Transportation: एक ही नंबर के दो वाहनों से लकड़ी का अवैध परिवहन, अब बिना जांच छोड़ने का भी आदेश

Updated: | Tue, 22 Jun 2021 10:35 AM (IST)

रायपुर। Illegal Timber Transportation: इमारती लकड़ी की अवैध कटाई को रोकने सरकार सख्ती अपना रही है और पर्यावरण बचाने कई अहम योजनाएं संचालित कर पौधे लगा रहे हैं। लेकिन जिले में वन विभाग की मेहरबानी से अवैध कटाई कर परिवहन करने का मामला थमने का नाम नहीं ले रहा है। दरअसल हम बात कर रहे है एक ही नंबर के दो अलग-अलग वाहनों से इमारती लकड़ी के अवैध परिवहन मामले में वन महकमे के मेहरबानी की।

जिले के गुंडरदेही और रनचिरई थाने में अवैध लकड़ी से भरी एक ही नंबर की जब्त दो अलग-अलग गाड़िया खड़ी है। आज से तीन माह पहले लकड़ी के अवैध परिवहन करते एक मेटाडोर सीजी 07 सीए 6328 को रनचिरई पुलिस ने पकड़ा था। गाड़ी रनचिरई थाने में खड़ी है, जिसकी जांच वन विभाग कर रहा है। ठीक उसी नंबर की कहुआ गोले से भरा दूसरा मेटाडोर सीजी 07 सीए 6328 को वन विभाग के अमले ने पुलिस की मदद से पकड़कर गुंडरदेही थाने में खड़ा किया है।

लेकिन एक ही नंबर के दो अलग-अलग मेटाडोर में अवैध लकड़ी परिवहन के प्रकरण आने के बाद भी रनचिरई थाने में खड़े मेटाडोर को छोड़े जाने का आदेश दिया गया है। जिस पर सवाल खड़े हो रहे हैं। एक ही नंबर की दो गाड़ियों से अवैध लकड़ी परिवहन में मामले में दोनों गाड़ियों की जांच किए बगैर लेनदेन कर एक गाड़ी को छोड़ने की बाते सामने आ रही है।

आरटीओ को चिट्ठी लिखेंगे: डहरे

पूरे मामले में एसडीओ डहरे से बात की गई तो उनका कहना है कि रनचिरई थाने में खड़ी गाड़ी को छोड़ने का आदेश हुआ है। अवैध परिवहन की धारा लगी है, लेकिन गाड़ी को नहीं छोड़ा गया है। पहले और दूसरे वाली गाड़ी में एक ही नंबर है। गुंडरदेही थाने में जो गाड़ी खड़ी है वो अभी की बात है। रनचिरई थाने में खड़ी गाड़ी पहले पकड़ी गई है। इधर, इस मामले को लेकर संभागीय परिवहन अधिकारी रविंद्र ठाकुर से मोबाइल पर संपर्क करने की कोशिश की गई, लेकिन उन्होंने फोन रिसिव नहीं किया।

Posted By: Azmat Ali
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.