HamburgerMenuButton

Jhulelal Jayanti 2021: केक काटा, द्वार पर सजाए दीप, महाआरती कर मनाया भगवान झूलेलाल का जन्मोत्सव

Updated: | Wed, 14 Apr 2021 10:04 AM (IST)

रायपुर। Jhulelal Jayanti 2021: कोरोना महामारी की दूसरी लहर के चलते लगे लॉकडाउन में सिंधी समाज के लोगों ने अपने आराध्य भगवान झूलेलाल का जन्मोत्सव घर-घर में श्रद्धा भक्ति से मनाया। परिवारजनों ने द्वार पर 11 दीप जलाए और केक काटकर महाआरती करके कोरोना महामारी से मुक्ति दिलाने की प्रार्थना की।

सिंधु एकता संघ से जुड़े सदस्यों ने एक ही समय पर शाम 7 बजे अपने-अपने घरों पर महाआरती की। संघ के संस्थापक सुभाष बजाज एवं झूलेलाल उत्सव के संयोजक महेश दरयानी ने बताया कि प्रदेशभर में संत साईं लालदास एवं संत युधिष्ठिर लाल की प्रेरणा से समाज के लोगों ने घर पर ही पूजा आराधना की।

घण्टी, शंख बजाकर ओम जय दूलह देवा स्वामी जय दूलह देवा पूजा कनि था प्रेमी सेवा कनि था प्रेमी सिदक रखी सेवा ओम जय दूलह देवा आरती गाकर देश व प्रदेश में सुख समृद्धि की प्रार्थना की।

आज घर पर ही करेंगे विसर्जन

समिति अध्यक्ष चंद्र कुमार माखीजा एवं प्रवक्ता रिक्की जुड़ानी एवं राष्ट्रीय सिंध युवा ब्रिगेड के प्रदेश अध्यक्ष विशाल कुकरेजा ने बताया कि लॉकडाउन के चलते 14 अप्रैल को झूलेलाल उत्सव के पांचवे दिन घर घर में स्थापित प्रतिमा का विजर्सन घर पर ही विसर्जन कुंड बनाकर करेंगे। मिट्टी को घर में ही तुलसी के गमलों में उपयोग करेंगे।

जो समाज जन विसर्जन नहीं करना चाहते हैं, वे चाहें तो साल भर अपने घर में मूर्ति रख सकते हैं। राजधानी में सिंधु एकता संघ ने करीब 10 हजार और राष्ट्रीय सिंध युवा ब्रिगेड के नेतृत्व में 2000 प्रतिमाओं का निश्शुल्क वितरण घर- घर में किया गया था।

Posted By: Shashank.bajpai
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.