सफाई मित्र के ड्रेस कोड में रायपुर के महापौर ने घर-घर जाकर मांगा कचरा

Updated: | Sat, 04 Dec 2021 09:10 PM (IST)

रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। आगामी स्वच्छता रैंकिंग में रायपुर को छठवें स्थान से नंबर वन बनाने के लिए महापौर एजाज ढेबर समेत पूरी परिषद ने कमर कस ली है। शनिवार सुबह महापौर ने अपने मौलाना अब्दुल रऊफ वार्ड क्रमांक 46 में सफाई मित्र के ड्रेस कोड में ग्लब्स पहनकर सफाई वाहन स्वयं चलाकर घर-घर से कचरा एकत्र किया। इस दौरान उन्होंने वार्ड के लोगों को सूखा-गीला कचरा अलग-अलग डस्टबिन में देने की अपील कर स्वच्छता का संदेश दिया।

महापौर एजाज ढेबर ने जब वार्ड के नेहरू नगर, मालवीय रोड, राजीव आवास योजना आवासीय परिसर लाल गंगा परिसर के पीछे, हनुमान नगर बस्ती समेत अन्य मुहल्लों में सफाई मित्र के ड्रेस कोड में सफाई वाहन चलाकर जब घर-घर में दस्तक दी तो लोग चौंक गए। महापौर को सामने पाकर रहवासियों ने अपने-अपने घरों से डस्टबिन में सूखा-गीला कचरा लाकर सफाई वाहन में डाला। इस दौरान महापौर ने नागरिकों को स्वच्छता के प्रति जागरूक बनाने अभियान चलाने पर जोर दिया।

महापौर ने कहा कि घर-दुकान का कचरा प्रतिदिन नियमित रूप से निगम के सफाई मित्र को दें। किसी भी हालत में सड़क, नाली, तालाब में कचरा डालकर गंदगी न फैलाएं। हम सभी अभी से यह प्रण कर लें कि रायपुर शहर को स्वच्छता सर्वेक्षण 2022 में पूरे देश में प्रथम स्थान दिलवाना है। यह तभी संभव है, जब सबकी सहभागिता होगी। निगम का स्वास्थ्य विभाग भी लगातार इस पर काम कर रहा है।

महापौर ने शहरवासियों से कहा कि पालीथिन में भरकर कचरे को सड़क, नाली, तालाब आदि में न फेंकंे, बल्कि निगम के सफाई मित्रों को कचरा देने से शहर साफ-सुथरा दिखाई देगा।पालीथिन का इस्तेमाल पर्यावरण के लिए काफी घातक है, लिहाजा पालीथिन का इस्तेमाल ही न करें। स्वच्छता बनाए रखने में सभी की सहभागिता ही हमारे शहर को नंबर वन के पायदान पर लाएगी।

महापौर के डोर टू डोर कचरा कलेक्शन के दौरान एल्डरमेन शमसुल हसन नम्मू भाई, निगम के स्वास्थ्य अधिकारी विजय पांडेय, सहायक स्वास्थ्य अधिकारी डाक्टर तृप्ति पाणीग्रही, जोन चार के जोन कार्यपालन अभियंता लोकेश चंद्रवंशी, जोन स्वच्छता निरीक्षक वीरेंद्र चंद्राकर समेत अधिकारी-कर्मचारी, सफाई मित्र कामगार मौजूद थे।

वाहन से सड़क पर न गिरे कचरा

महापौर ढेबर ने घर-दुकान के डस्टबिन में ऊपर तक कचरा न भरने के लिए भी समझाया, ताकि कचरा लेकर निगम के सफाई वाहन में डाले जाने पर वह सड़क पर न गिरे। सड़क पर कचरा गिरने से गंदगी फैलती है और सफाई कामगारों को साफ करने में काफी परेशानी होती है।

महापौर ढेबर ने सफाई मित्रों की विशेषकर कोरोना संक्रमण काल के दौरान किए गए कार्यों की तारीफ करते हुए कहा कि शहर को स्वच्छ रखने में हमारे सफाई मित्र किसी देवदूत से कम नहीं हैं। सफाई मित्रों को भी सफाई वाहन में ऊपर तक कचरा न भरने के लिए भी समझाया।

Posted By: Shashank.bajpai