HamburgerMenuButton

Corona Pandemic: जीवन से बढ़कर कुछ नहीं, सावधानी जरूरी- मुख्यमंत्री

Updated: | Sun, 09 May 2021 02:16 PM (IST)

रायपुर, राज्य ब्यूरो। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि सभी लोगों के समन्वित प्रयास से राज्य में कोरोना संक्रमण की स्थिति धीरे-धीरे संभलने लगी है। इस पर पूरी तरह से नियंत्रण के लिए अभी भी कड़ाई और सावधानी बरतने की जरूरत है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना महामारी की रोकथाम और लोगों के जीवन रक्षा के लिए उन तमाम उपायों और सुरक्षा मानकों का पालन सुनिश्चित किया जाना चाहिए जो जरूरी है।

बघेल ने यह बात शनिवार को अपने निवास कार्यालय में आयोजित वर्चुअल बैठक में राजनांदगांव और कबीरधाम के साथ बस्तर संभाग के सातों जिलों के राजस्व, पुलिस व स्वास्थ्य विभाग के अनुविभाग और खंड स्तरीय अधिकारियों को संबोधित करते हुए कही।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सीमावर्ती इलाकों में बाहर से आने वाले लोगों का अनिवार्य रूप से कोरोना टेस्ट किया जाए। उन्होंने राज्य के सभी चेकपोस्ट और चौकियों पर कोरोना की जांच की व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। फील्ड में पदस्थ अधिकारियों से चर्चा करने से यह बात स्पष्ट रूप से सामने आई है कि बाहर से आने वाले लोगों, शादी-ब्याह, त्योहार आदि के आयोजन से गांवों में कोरोना संक्रमण बढ़ा है।

उन्होंने कहा कि इससे बचने के लिए कोरोना गाइडलाइन का पालन और सावधानी जरूरी है। उन्होंने अधिकारियों को कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए लोगों को जागरूक करने और उन्हें निरंतर समझाइश देने की बात कही। शादी-ब्याह में 10 से अधिक लोग शामिल न हों, इसके लिए उन्होंने सभी समाज के प्रमुखों, सामाजिक संगठनों के पदाधिकारियों की मदद से वातावरण का निर्माण करने को कहा।

गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू, स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव, राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल भी बैठक में वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये शामिल हुए। मुख्यमंत्री निवास में मुख्य सचिव अमिताभ जैन, अपर मुख्य सचिव सुब्रत साहू, सचिव सिद्धार्थ कोमल सिंह परदेशी उपस्थित थे।

स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव ने कहा कि 45 से अधिक आयु वर्ग के जिन लोगों ने कोविड वैक्सीन का प्रथम डोज लगवा लिया है, उन्हें निर्धारित समय में दूसरा डोज लगवाने के लिए प्रेरित करें। गृह मंत्री साहू ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए लागू की गई व्यवस्थाओं के सकारात्मक परिणाम सामने आ रहे हैं।

उन्होंने इंटरनेट मीडिया के जरिये किए जा रहे दुष्प्रचार को रोकने और सही जानकारी लोगों को उपलब्ध कराने पर जोर दिया। राजस्व मंत्री अग्रवाल ने कहा कि अन्य राज्यों की तुलना में छत्तीसगढ़ राज्य में कोरोना के रोकथाम और संक्रमितों के इलाज का बेहतर प्रबंध हुआ है।

Posted By: Shashank.bajpai
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.