Raipur News: सर्व शिक्षक संघ का आरोप- लापरवाही के कारण नहीं जारी हो पा रहा व्याख्याताओं का नियमितीकरण आदेश

Updated: | Sat, 16 Oct 2021 05:05 PM (IST)

Raipur News: रायपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। छत्‍तीसगढ़ में हजारों ऐसे शिक्षक हैं जो अभी भी अपनी नियमितीकरण की बाट जोह रहे हैं और इसके पीछे की वजह जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय की लापरवाही है। क्योंकि जो दस्तावेज उन्हें राज्य कार्यालय को प्रेषित करना है वह उनके द्वारा भेजा ही नहीं जा रहा है। यह आरोप सर्व शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष विवेक दुबे ने लगाया है।

इसके अलावा विवेक दुबे ने कहा कि नियमितीकरण आदेश जारी करने की मांग को लेकर एक सप्ताह पहले लोक शिक्षण संचालनालय के संचालक कमलप्रीत सिंह और उपसंचालक आशुतोष चावरे से मुलाकात की थी। नियमितीकरण आदेश जारी होने में लेटलतीफी की बात को सामने रखते हुए जल्द निराकरण करने की मांग रखी थी। इसके बाद अब लोक शिक्षण संचालनालय ने पूरे मामले की खोजबीन करके जिला रायपुर, सूरजपुर, बिलासपुर, रायगढ़, दुर्ग और मुंगेली के जिला शिक्षा अधिकारियों को पत्र जारी किया है।

व्याख्याताओं के दस्तावेज जिला कार्यालयों से अपूर्ण भेजे गए हैं, जिसके चलते राज्य कार्यालय से नहीं नियमितीकरणकरण आदेश जारी नहीं हो पा रहा है। उनका कहना है कि लोक शिक्षण संचालनालय के पत्र से यह साफ स्पष्ट होता है कि जिला कार्यालय द्वारा शिक्षकों की जानकारी भेजने में घोर लापरवाही की गई है। इसके चलते शिक्षक साथियों का नियमितिकरण आदेश जारी नहीं हो पाया है और उन्हें इसका खामियाजा उठाना पड़ रहा है।

शिशु रोग विभाग अब फिर से आंबेडकर अस्पताल में होगा संचालित

16 अक्टूबर शनिवार से पीडियाट्रिक (बाल्य एवं शिशु रोग) विभाग के बाह्य रोगी विभाग (ओपीडी) व अंतः रोगी विभाग (आइपीडी) का संचालन डा. भीमराव अम्बेडकर स्मृति चिकित्सालय में होगा। ओपीडी चिकित्सालय का संचालन प्रथम तल (फर्स्ट फ्लोर) स्थित कक्ष क्रमांक 124-131 में किया जाएगा। वहीं आइपीडी के लिए वार्ड क्रमांक एक और दो में बच्चों को उपचार के लिए भर्ती किया जा सकेगा।

बता दें कि कोरोना की पहली लहर में आंबेडकर अस्पताल के विशेषीकृत कोरोना अस्पताल बन जाने के कारण पीडियाट्रिक विभाग को कालीबाड़ी स्थित शासकीय अस्पताल में स्थानांतरित किया गया था। इसे अब परिस्थितियां सामान्य होने के बाद फिर से अम्बेडकर चिकित्सालय में संचालित किया जाएगा।

Posted By: Kadir Khan